For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार (201)

Discussions Replies Latest Activity

हार्दिक बधाइया

मूर्ख दिवस के अवसर पर एक कोशिश के तहत खोला गया ये OBO कई लोगो के दिल के अंदर के बसे भावनाओ और उनकी लेखनी प्रतिभा को जगजाहिर कर एक भावनात्मक…

Started by Dheeraj

2 Apr 4, 2011
Reply by Abhinav Arun

इस बार होली का रंग कैसा हो

मेरा मानना है कि फागुन कण-कण में हो उल्लास ऐसा मधुर मास। लाल बिहारी लाल,बदरपुर,नई दिल्ली-44    इस बार पावन पर्व होली का रंग  कैसा हो ? आप ब…

Started by Lal Bihari Gupta LAL

0 Mar 1, 2011

जल्‍दी शामि‍ल हो भोजपुरी संवि‍धान की 8वीं अनुसूची में

देवलधाम दिनांक 22 फरवरी 2011 को दिल्‍ली स्‍थित प्रेस क्‍लब ऑफ इंडिया में भोजपुरी समाज दिल्‍ली के सौजन्‍य से प्रेस कांफ्रेस का आयोजन किया गय…

Started by देवDevकान्‍तKant पाण्‍डेयPandey

1 Feb 24, 2011
Reply by Rash Bihari Ravi

बहर सारिणी

ग़ज़ल की बहरें समझना बहुत टेढ़ी खीर है। ऐसा इसलिए भी है क्योंकि बहर के बारे में जानकारी तो बहुत ज्यादा मिल जाती है अंतर्जाल पर पर कहीं भी व्यव…

Started by धर्मेन्द्र कुमार सिंह

7 Jan 30, 2011
Reply by Admin

बड़ा सवाल ये है कि आखिर कब मुजरिमों के दिल में क़ानून का डर पैदा होगा ?

वन्दे मातरम बंधुओं, 25 जनवरी को जबकि पूरा देश गणतन्त्र दिवस की खुशियों को मनाने के लिए व्यस्त था तब मालेगांव में एक ईमानदार जज को तेल माफिय…

Started by rakesh gupta

4 Jan 30, 2011
Reply by rakesh gupta

मुख्य प्रबंधक

"यादें" (आईये लिखे कुछ ऐसी यादों को जो भूलता ही नहीं)

हमारे जीवन मे बहुत सारी ऐसी घटनाये हो जाती है जो भुलाये नहीं भूलती, और कभी सोच सोच कर आँखों मे आंशु तो कभी होंठो पर मुस्कान आ जाती है, ये य…

Started by Er. Ganesh Jee "Bagi"

48 Jan 5, 2011

मुख्य प्रबंधक

OBO परिवार शुभकामना सन्देश ...

साथियों ! नूतन वर्ष आप सबके जीवन मे अपार खुशियाँ लेकर आये, आप सब भी अपना शुभकामना सन्देश यहाँ लिख सकते है ...

Started by Er. Ganesh Jee "Bagi"

14 Jan 2, 2011
Reply by Lata R.Ojha

प्रधान संपादक

OBO की प्रकाशन सम्बन्धी नियमावली ( ०१-१०-२०१० से प्रभावी )

आदरणीय सदस्यगण ! हर रोज़ भारी संख्या में प्रकाशन हेतु रचनाएँ प्राप्त होने की वजह से OBO की रचना प्रकाशन सम्बन्धी नीति में कुछ निम्नलिखित प…

Started by योगराज प्रभाकर

39 Dec 14, 2010
Reply by योगराज प्रभाकर

ओपन बुक्स परिवार के सदस्यों से केवल "दो बातें"

ओपन बुक्स ऑनलाइन के सभी सदस्यों को एडमिन का सादर अभिवादन ! आज आप सब से शिर्फ़ दो बाते कहनी है | पहली बात :- जैसा की आप सभी जानते है कि "ओपन…

Started by Admin

1 Nov 29, 2010
Reply by Abhinav Arun

मुख्य प्रबंधक

श्री योगराज प्रभाकर जी बने ओपन बुक्स ऑनलाइन डाट कॉम के "प्रधान संपादक"

ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सभी सदस्यों और Visitors को सूचित करते हुए मुझे अपार हर्ष और गर्व की अनुभूति हो रही है कि ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार…

Started by Er. Ganesh Jee "Bagi"

24 Oct 12, 2010
Reply by DEEP ZIRVI

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Sheikh Shahzad Usmani commented on Sheikh Shahzad Usmani's blog post 'गठरी, छतरियां और वह' (लघुकथा)
"आदाब। बहुत-बहुत शुक्रिया मुहतरम जनाब समर कबीर साहिब इस हौसला अफ़ज़ाई हेतु।"
1 hour ago
Md. anis sheikh commented on गिरधारी सिंह गहलोत 'तुरंत ''s blog post झूठ फैलाते हैं अक़्सर जो तक़ारीर के साथ (१५)
"आप का ही नहीं गहलोत जी हमारा भी यही हाल है अपनी गलती दिखाई नहीं देती ,और बात सिर्फ गलती पकड़ने कि…"
2 hours ago
Tasdiq Ahmed Khan commented on Tasdiq Ahmed Khan's blog post ग़ज़ल (दिल ने जिसे बना लिया गुलफाम दोस्तो)
"जनाब राज़ नवाद्वी साहिब, ग़ज़ल में आपकी शिर्कत और हौसला अफज़ाई का बहुत बहुत शुक्रिया I "
3 hours ago

सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari posted a blog post

एक रदीफ़ पर दो ग़ज़लें "छत पर " (गज़ल राज )

१.हास्य उठाई है़ किसने ये दीवार छत पर  अब आएगा कैसे  मेरा यार छत पर  अगर उसके वालिद  का ये काम…See More
9 hours ago

सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari commented on rajesh kumari's blog post लंगडा मज़े में है (हास्य व्यंग ग़ज़ल 'राज')
"आद० फूल सिंह जी हार्दिक आभार बहुत बहुत शुक्रिया "
9 hours ago

सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari commented on rajesh kumari's blog post लंगडा मज़े में है (हास्य व्यंग ग़ज़ल 'राज')
"आद० नरेन्द्र सिंह जी आपका बहुत बहुत शुक्रिया "
9 hours ago
Sheikh Shahzad Usmani added a discussion to the group बाल साहित्य
Thumbnail

'अब तुम्हारे हवाले ... बहिनों' ( संस्मरण)

उन दोनों की मैं बहुत शुक्रगुजार हूं। बताऊं क्यूं? क्योंकि इस बार के गणतंत्र दिवस में उन दोनों ने…See More
10 hours ago
डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव posted a discussion

लेखन में आत्ममुग्धता की बढ़ती प्रवृत्ति और उसके खतरे-एक परिचर्चा /// प्रस्तुति – डॉ. गोपाल नारायण श्रीवास्तव

 भारतीय संस्कृति में विनम्रता का महत्वपूर्ण स्थान रहा है I अपनी  तारीफ सुनकर आज भी विनम्र लोग शील…See More
12 hours ago
Naveen Mani Tripathi posted a blog post

ग़ज़ल

1212     1122     1212     …See More
12 hours ago
Manoj kumar Ahsaas posted a blog post

एक ग़ज़ल मनोज अहसास

कहते हैं देख लेता है नजरों के पार तूमेरी तरफ भी देख जरा एक बार तूहर बार मान लेता हूं तेरी रजा को…See More
12 hours ago
Sushil Sarna posted blog posts
12 hours ago
गिरधारी सिंह गहलोत 'तुरंत ' posted blog posts
12 hours ago

© 2019   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service