For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

ग़ज़ल --- मैं अपने काम अगर वक़्त पर नहीं करता / दिनेश कुमार / इस्लाह हेतु.

1212---1122---1212---22
.
मैं अपने काम अगर वक़्त पर नहीं करता
तो कामयाबी की चोटी भी सर नहीं करता
.
हसीन ख़्वाब अगर दिल में घर नहीं करता
तवील रात से मैं दर-गुज़र नहीं करता
.
हरेक मोड़ पे ख़ुशियों तो कम हैं,दर्द हज़ार
कहानी वो मेरी क्यों मुख़्तसर नहीं करता
.
ग़मों ने मुझको सिखाया है ज़िन्दगी का हुनर
किसी भी हाल, मैं अब आँख तर नहीं करता
.
मैं अपने अज़्म की पतवार साथ रखता हूँ
मेरे सफ़ीने पे तूफ़ाँ असर नहीं करता
.
गिरे ज़मीन पे दस्तार मेरी, झुकने से
मैं हुक्मरां को सलाम इस क़दर नहीं करता
.
ग़ुरूर साथ में चलता है हर घड़ी उसके
वो अब अमीर है तन्हा सफ़र नहीं करता
.
दिया उमीद का तू हर घड़ी जलाये रख
हर एक रात की क्या, रब सहर नहीं करता
.
अजब जवाब था उनका 'दिनेश' सोचेंगे
सुना था इश्क़ कोई सोच कर नहीं करता
.
मौलिक व अप्रकाशित

Views: 51

Comment

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

Comment by लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' on May 23, 2018 at 6:53pm

आ. भाई दिनेश जी, सुंदर गजल हुयी है । हार्दिक बधाई ।

Comment by दिनेश कुमार on May 22, 2018 at 8:11pm

बहुत बहुत शुक्रिया आदरणीय निलेश सर जी।

कुछ कमियां भी बताइये। 

Comment by Nilesh Shevgaonkar on May 22, 2018 at 8:07pm

आ. दिनेश जी 
अच्छी ग़ज़ल हुई है ..सभी अशआर भरपूर हैं..
बहुत बहुत बधाई 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

satish mapatpuri replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"चौपई छंद चौराहे की अदभुत बात , लोग गुजरते दिन या रात । रहता इसके आँगन शोर , राह निकलता चारो ओर…"
2 hours ago
babitagupta replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"चित्रानुसार बेहतरीन व्याख्या छन्द द्वारा, बधाई स्वीकार कीजिएगा आदरणीय सर जी. "
7 hours ago
babitagupta replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"चित्रानुसार बेहतरीन सृजन जिसमें छिपी सामाजिक व्यवस्था को संकेत देते छन्द, बधाई स्वीकार कीजिएगा…"
7 hours ago
babitagupta replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"चित्रानुसार बेहतरीन सृजन, बधाई स्वीकार कीजिएगा सर जी. "
7 hours ago
babitagupta replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"बेहतरीन रचना, चित्रानुरूप, बधाई स्वीकार कीजिएगा आदरणीय सर जी. "
7 hours ago
babitagupta replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"प्रस्तुत चित्र की बेहतरीन प्रस्तुति, बधाई स्वीकार कीजिए, आदरणीय सर जी. "
7 hours ago
अजय गुप्ता replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"अहहहहा। बहुत ही खूबसूरत प्रस्तुति। बधाई।"
8 hours ago
अजय गुप्ता replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"वाह। चित्र की हर बारीकी का उल्लेख। बधाई"
8 hours ago
अजय गुप्ता replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"सरल एवं सटीक। बहुत बढ़िया"
8 hours ago
अजय गुप्ता replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"शुक्रिया सिंह साहब"
8 hours ago
अजय गुप्ता replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"शुक्रिया आरिफ़ साहब इस उत्साहवर्धन के लिए"
8 hours ago
अजय गुप्ता replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 86 in the group चित्र से काव्य तक
"बहुत बहुत शुक्रिया जनाब। भाग और दिमाग़ तो सही कहा ख़ास और विश्वास में आपसे और जानकारी की गुज़ारिश है"
8 hours ago

© 2018   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service