For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार (218)

Discussions Replies Latest Activity

ओबीओ लखनऊ चैप्टर की साहित्य संध्या माह अगस्त 2019 – एक प्रतिवेदन   :: डॉ. गोपाल नारायन श्रीवास्तव

 24 अगस्त 2019,भाद्रपद अष्टमी दिन शनिवार,बहुत से लोगों ने इस दिन कृष्ण जन्मोत्सव मनाया और उसी औत्स्विक माहौल में सायं 3 बजे ओबीओ लखनऊ चैप्…

Started by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

0 Sep 16, 2019

ओबीओ लखनऊ चैप्टर की साहित्य संध्या माह जुलाई 2019 – एक प्रतिवेदन       :: डॉ. गोपाल नारायन श्रीवास्तव

सावन का महीना I ग्रामीण अंचल में इन दिनों मल्हार गाया जाता है I कृष्ण पक्ष की एकादशी अर्थात 28 जुलाई 2019 के सायं 4 बजे ओबीओ लखनऊ चैप्टर क…

Started by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

0 Aug 14, 2019

मलिक मुहम्मद जायसी  के जीवन वृत्त पर लिखे गए ऐतिहासिक उपन्यास 'पंडितन केर पछलगा' के लोकार्पण पर संदीप कुमार सिंह की रिपोर्ट    प्रस्तुति- डॉ. गोपाल नारायण श्रीवास्तव

कैफी आज़मी एकेडमी., लखनऊ में  दिनांक 21-7-2019 दिन रविवार को सम्पन्न हुए समारोह में लोकार्पण के पश्चात लेखकीय वक्तव्य देते हुए डॉ. गोपाल ना…

Started by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

0 Jul 23, 2019

ओबीओ लखनऊ चैप्टर की साहित्य संध्या माह जून 2019 – एक प्रतिवेदन डॉ. गोपाल नारायन श्रीवास्तव

चढा असाढ, गगन घन गाजा । साजा बिरह दुंद दल बाजा ॥ धूम, साम, धीरे घन धाए । सेत धजा बग-पाँति देखाए ॥ खडग-बीजु चमकै चहुँ ओरा । बुंद-बान बरसहिं…

Started by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

0 Jul 22, 2019

यक्ष का संदेश (मेघदूत के काव्यानुवाद ) पर डा. नलिनरंजन सिंह का वक्तव्य    ::   प्रस्तुति -गोपाल नारायण श्रीवास्तव

दिनांक  23 जून 2019   ‘ डॉ.. गोपाल नारायण श्रीवास्ताव कृत यक्ष का संदेश (मेघदूत के काव्यानुवाद) का पाठ करते हुए  मुझे याद आया कि अपने विद्य…

Started by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

0 Jul 1, 2019

ओबीओ लखनऊ चैप्टर की साहित्य संध्या माह मई 2019 – एक प्रतिवेदन                                      डॉ. गोपाल नारायन श्रीवास्तव

बैशाख उतर रहा था, ज्येष्ठ की मुद्रा आक्रामक थी I मौसम के इस संधिकाल में जब ग्रीष्म ने अपनी जिह्वा फैलानी शुरू की, तब 19 मई 2019 को सायं 3…

Started by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

0 Jun 25, 2019

ओबीओ लखनऊ चैप्टर की साहित्य संध्या माह अप्रैल 2019 – एक प्रतिवेदन                                      डॉ. गोपाल नारायन श्रीवास्तव

ओबीओ लखनऊ-चैप्टर की साहित्य संध्या माह अप्रैल 2019 का आगाज रविवार दिनांक 28अप्रैल 2019 को श्री भूपेन्द्र सिंह ’होश’ के सौजन्य से 37, रोहता…

Started by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

0 May 22, 2019

ओबीओ लखनऊ चैप्टर की साहित्य संध्या माह मार्च 2019 – एक प्रतिवेदन - डॉ. गोपाल नारायन श्रीवास्तव

ओबीओ लखनऊ-चैप्टर की साहित्य संध्या माह मार्च रविवार दिनांक 17 मार्च 2019 को श्री मृगांक श्रीवास्तव के सौजन्य से उनके आवास डी-343, सेक्टर एफ…

Started by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

0 Apr 17, 2019

ओबीओ लखनऊ चैप्टर की साहित्य संध्या माह फरवरी 2019 – एक प्रतिवेदन

रविवार, दिनांक 24 फरवरी 2019 को मनोज शुक्ल ‘मनुज के सौजन्य से इंजीनियरिंग कालेज. लखनऊ के समीप स्थित स्टेट बैंक की बिल्डिंग में आगमन संस्था…

Started by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

3 Mar 30, 2019
Reply by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

उपन्यास के निकष पर - ‘शिव :: अलौकिक व्यक्तित्व की लौकिक-यात्रा’                                                 डॉ. गोपाल नारायन श्रीवास्तव

 हिंदी साहित्यकारों ने भारतीय मिथकों के दैवीय चरित्रों को उपन्यासों में मानवीकृत करने के बहुतेरे प्रयास किये हैं I रामायण और महाभारत के नाय…

Started by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

2 Feb 25, 2019
Reply by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

TEJ VEER SINGH replied to Admin's discussion खुशियाँ और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...
"आदरणीय समर कबीर साहब जी, आपके भाई साहब के  स्वास्थ्य के बारे में पढ़कर मन बहुत दुखित है |…"
49 minutes ago

मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi" replied to Admin's discussion खुशियाँ और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...
"ईश्वर से प्रार्थना है कि वो शीघ्र स्वस्थ हों ।"
2 hours ago
Satyanarayan Singh replied to Admin's discussion खुशियाँ और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...
"आदरणीय समर कबीर जी, आपके भाई साहब के  स्वास्थ्य के बारे में पढ़कर मन बहुत दुखित है ईश्वर…"
2 hours ago
गिरधारी सिंह गहलोत 'तुरंत ' posted a blog post

ज़िन्दान-ए-हिज्र से अरे आज़ाद हो ज़रा (८३ )

( 221 2121 1221 212 )ज़िन्दान-ए-हिज्र से अरे आज़ाद हो ज़रा नोहे* तू क़त्ल-ए-इश्क़ के दुनिया को मत…See More
3 hours ago
डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव posted a blog post

दूरियां

जब नहीं थासमयतब तुम घूमती थीऔर मंडराती थीहमारे इर्द-गिर्दकरती थी परिक्रमाऔर मैं देता था झिडक   अब…See More
4 hours ago
narendrasinh chauhan commented on vijay nikore's blog post असाधारण सवाल
"खूब सुंदर रचना "
4 hours ago
narendrasinh chauhan commented on Sushil Sarna's blog post आज के दोहे :
"खूब सुंदर रचना, सर"
4 hours ago
Manan Kumar singh commented on Manan Kumar singh's blog post जांच की रिपोर्ट
"आभार आदरणीय।"
6 hours ago
Salik Ganvir posted a blog post

ग़ज़ल

2122 2122 2122 212.है नहीं रहना जो पानी में , शिकायत कीजिए वर्ना घड़ियालों से पहली सी अदावत कीजिएहै…See More
6 hours ago
vijay nikore posted a blog post

असाधारण सवाल

असाधारण सवालयह असाधारण नहीं है क्याकि डूबती संध्या मेंज़िन्दगी को राह में रोक करहार कर, रुक करपूछना…See More
6 hours ago

प्रधान संपादक
योगराज प्रभाकर replied to Admin's discussion खुशियाँ और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...
"आदरणीय समर कबीर साहिब, भाई साहिब की तबीयत के बारे में जानकार दुःख हुआ. आप चिंता मत करें, प्रभु…"
6 hours ago
Salik Ganvir replied to Admin's discussion खुशियाँ और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...
"भाई समर कबीर जान कर बहुत अफसोस हुआ कि आपके अनुज की तबियत खराब है. मेरी ईश्वर से यही प्रार्थना है कि…"
7 hours ago

© 2020   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service