For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

शरद सत्र 2014-15 हेतु ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम व कार्यकारिणी टीम का पुर्नगठन...

प्रिय ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सदस्यो, बड़े ही हर्ष के साथ कहना है कि ओपन बुक्स ऑनलाइन के बेहतर संचालन हेतु "शरद सत्र" के लिए पुर्नगठित "ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम" तथा "ओपन बुक्स ऑनलाइन सदस्य कार्यकारिणी" प्रभावी हो गई है |

साथियो, जहाँ "ओ बी ओ प्रबंधन टीम" में कोई बदलाव नहीं हुआ है, वही "ओ बी ओ कार्यकारिणी टीम" में इसबार प्रभावशाली व्यक्तित्व के धनी श्री शिज्जु शकूर जी को शामिल किया गया है साथ ही विगत कई सत्रों में शामिल ऊर्जस्वी एवं ओ बी ओ के प्रति समर्पित सदस्या श्रीमती राजेश कुमारी जी को "कार्यकारिणी सदस्य सह संयोजक" बनाया गया है जो वस्तुतः कार्यकारिणी सदस्यों के मध्य समन्वय का कार्य भी करेंगी ।

प्रबंधन व कार्यकारिणी सदस्यों को बहुत-बहुत शुभकामनाएँ | उम्मीद है, आप सबकी निगेहबानी में ओ बी ओ नित्य नई ऊँचाइयों को प्राप्त करेगा |

गणेश जी "बागी"

संस्थापक सह मुख्य प्रबंधक

ओपन बुक्स ऑनलाइन

ओपन बुक्स ऑनलाइन प्रबंधन टीम

*(शरद सत्र - 2014-15)

गणेश जी "बागी"
संस्थापक सह मुख्य प्रबंधक

योगराज प्रभाकर
प्रधान संपादक

 

सौरभ पाण्डेय
सदस्य टीम प्रबंधन

राणा प्रताप सिंह
सदस्य टीम प्रबंधन

डॉ प्राची सिंह
सदस्य टीम प्रबंधन

***

ओपन बुक्स ऑनलाइन सदस्य कार्यकारिणी

*(शरद सत्र - 2014-15)

राजेश कुमारी

(कार्यकारिणी सदस्य सह संयोजक) 

शरदिंदु मुखर्जी 

(कार्यकारिणी सदस्य)

अरुण कुमार निगम 

(कार्यकारिणी सदस्य)

 



गिरिराज भंडारी

(कार्यकारिणी सदस्य)



शिज्जु "शकूर" 

(कार्यकारिणी सदस्य)

*शरद सत्र - 2014 ( 01 अक्टूबर-14 से 31 मार्च -15 तक )

Views: 1944

Reply to This

Replies to This Discussion

नव निर्वाचित कार्य कारिणी के सभी पदाधिकारियॊ और सदस्यों को हार्दिक बधाई

ओबीओ के शरद-सत्र के लिए निर्वाचित समस्त कार्यकारिणी सदस्यों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं।  

 

शरद सत्र के लिये चुनी गई ओपन बुक्स ऑनलाईन डॉट कॉम प्रबंधन समिति के सदस्यों का अभिनंदन एवं कार्यकारिणी में शामिल करने के लिये प्रबंधन समिति का शुक्रिया एवं हौसला अफ्ज़ाई के लिये सभी सदस्यों का दिल से आभार। मैं पूरी कोशिश करूँगा कि दी गई ज़िम्मेदारी को लगन के साथ निभा सकूँ।

कार्यकारिणी के सभी सदस्‍यों को हार्दिक बधाई। 

अभिनन्दन एवं अभिवादन टीम के सभी सुविज्ञ सदस्यों का !!

ओपन बुक्स ऑनलाइन शरद-सत्र २०१४ के पुनर्गठन पर ओ.बी.ओ. प्रबधन टीम व आदरणीया राजेश कुमारी जी( कार्यकारिणी सदस्य सह-सयोंजक) ,आदरणीय शरदिंदु मुखर्जी जी, आदरणीय अरुण निगम जी, आदरणीय गिरिराज जी तथा आदरणीय शिज्जू जी को कार्यकारिणी सदस्य चयनित होने पर हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं

सादर! 

सबसे पहले मैं आदरणीय शिज्जु "शकूर" जी का अभिनंदन करता हूँ कार्यकारिणी सदस्य के रूप में स्वीकृति पाने हेतु. ओ.बी.ओ. के प्रति आपकी सतत निष्ठा एक उदाहरण स्वरूप है. आदरणीया राजेश कुमारी जी को हार्दिक बधाई सह संयोजक के महत्त्वपूर्ण पद का दायित्व ग्रहण करने पर. आपका विशाल अनुभव हम सभी का मार्गदर्शन करेगा. अपरिहार्य कारणों से  कुछ व्यक्तिगत मजबूरियों के चलते पिछले सत्र के दौरान मैं अपेक्षित रूप से सक्रिय नहीं रह सका फिर भी ओ.बी.ओ. प्रबंधन ने मुझे एक और अवसर दिया है, इस सम्मान के लिए मैं सभी का आभार व्यक्त करता हूँ. ईमानदारी से पूरी कोशिश के बावजूद मैं समय कितना दे पाऊंगा इस पर एक प्रश्नचिह्न लगा रह सकता है लेकिन ओ.बी.ओ. के प्रति मेरी निष्ठा और मेरे सहयोग की भावना अटूट रहेगी यह आश्वासन हमेशा रहेगा. सादर.

सादर धन्यवाद आ० शरदिंदु मुखर्जी जी, आपकी बधाई हृदय से स्वीकार |

कुछ वयस्तता के कारण एक सप्ताह से भी अधिक ओ बी ओ से दूर रहना पड़ा i अतः नवीन गतिविधियो से तुरंत अभिज्ञ नहीं हो सका i
शरद-सत्र के सभी अधिकारियो और कार्य-कारिणी सदस्यों को मेरा अभिवादन और शुभ कामनाये i हिज्जू शकूर जी की कारयित्री प्रतिभा से सभी परिचित है i मै भी उनका प्रशंसक रहा हूँ i नव सदस्य के रूप में अवश्य ही कार्यकारिणी की हित साधना करेंगे i वे मेरे अनुजवत है i मै उन्हें इस पद हेत बधाई देता हूँ i आदरणीय मुखर्जी मेंरे अग्रजतुल्य है i एक ही शहर में होने के कारण हम आपस मिल भी पाते है जो संबंधो में और गहराई लाता है i उझ पर उनका प्रांजल स्नेह है i मै उन्हें बधाई देता हूँ i आदरणीय योगराज जी और सौरभ जी का स्नेह और मार्ग दर्शन मुझे मिलता रहा है i मै इन महानुभावों का भा आभारी हूँ i महनीया राजेश कुमारी जी से मै रचनाओ के अंतर्गत बात करता रहता हूँ i उनकी भी कलम स्तुत्य है i जिनका नामोल्लेख नही कर सका हूँ उनसे सत्तत स्नेह की कामना है, क्योंकि - "रूप विशेष नाम बिनु जाने i करतल गत न परहि पहचाने i" सभी आदरणीयो को आसन्न दीपावली की बहुत -बहुत शुभ कामनाये i
सादर i

कार्यकारिणी के सभी सदस्‍यों को हार्दिक बधाई। 

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . .सागर
"आ. भाई सुशील जी, सादर अभिवादन। सुंदर दोहे हुए हैं। हार्दिक बधाई।"
11 hours ago
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . .सागर
"आदरणीय चेतन प्रकाश जी सृजन के भावों को मान देने का दिल से आभार । सुझाव के लिए हार्दिक आभार लेकिन…"
13 hours ago
Chetan Prakash commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . .सागर
"अच्छे दोहें हुए, आ. सुशील सरना साहब ! लेकिन तीसरे दोहे के द्वितीय चरण को, "सागर सूना…"
17 hours ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Saurabh Pandey's discussion कामरूप छंद // --सौरभ in the group भारतीय छंद विधान
"सीखे गजल हम, गीत गाए, ओबिओ के साथ। जो भी कमाया, नाम माथे, ओबिओ का हाथ। जो भी सृजन में, भाव आए, ओबिओ…"
yesterday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Saurabh Pandey's discussion वीर छंद या आल्हा छंद in the group भारतीय छंद विधान
"आयोजन कब खुलने वाला, सोच सोच जो रहें अधीर। ढूंढ रहे हम ओबीओ के, कब आयेंगे सारे वीर। अपने तो छंदों…"
yesterday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Saurabh Pandey's discussion उल्लाला छन्द // --सौरभ in the group भारतीय छंद विधान
"तेरह तेरह भार से, बनता जो मकरंद है उसको ही कहते सखा, ये उल्लाला छंद है।"
yesterday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Saurabh Pandey's discussion शक्ति छन्द के मूलभूत सिद्धांत // --सौरभ in the group भारतीय छंद विधान
"शक्ति छंद विधान से गुजरते हुए- चलो हम बना दें नई रागिनी। सजा दें सुरों से हठी कामिनी।। सुनाएं नई…"
yesterday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Er. Ambarish Srivastava's discussion तोमर छंद in the group भारतीय छंद विधान
"गुरुतोमर छंद के विधान को पढ़ते हुए- रच प्रेम की नव तालिका। बन कृष्ण की गोपालिका।। चल ब्रज सखा के…"
yesterday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Saurabh Pandey's discussion हरिगीतिका छन्द के मूलभूत सिद्धांत // --सौरभ in the group भारतीय छंद विधान
"हरिगीतिका छंद विधान के अनुसार श्रीगीतिका x 4 और हरिगीतिका x 4 के अनुसार एक प्रयास कब से खड़े, हम…"
yesterday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Saurabh Pandey's discussion गीतिका छंद in the group भारतीय छंद विधान
"राम बोलो श्याम बोलो छंद होगा गीतिका। शैव बोलो शक्ति बोलो छंद ऐसी रीति का।। लोग बोलें आप बोलें छंद…"
yesterday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Saurabh Pandey's discussion कुण्डलिया छंद : मूलभूत नियम in the group भारतीय छंद विधान
"दोहे के दो पद लिए, रोला के पद चार। कुंडलिया का छंद तब, पाता है आकार। पाता है आकार, छंद शब्दों में…"
yesterday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Saurabh Pandey's discussion चौपाई : मूलभूत नियम in the group भारतीय छंद विधान
"सोलह सोलह भार जमाते ।चौपाई का छंद बनाते।। त्रिकल त्रिकल का जोड़ मिलाते। दो कल चौकाल साथ बिठाते।। दो…"
yesterday

© 2024   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service