For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

खुशियाँ और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...

ओपन बुक्स ऑनलाइन के सभी सदस्यों को प्रणाम, बहुत दिनों से मेरे मन मे एक विचार आ रहा था कि एक ऐसा फोरम भी होना चाहिये जिसमे हम लोग अपने सदस्यों की ख़ुशी और गम को नजदीक से महसूस कर सके, इसी बात को ध्यान मे रखकर यह फोरम प्रारंभ किया जा रहा है, जिसमे सदस्य गण एक दूसरे के सुख और दुःख की बातो को यहाँ लिख सकते है और एक दूसरे के सुख दुःख मे शामिल हो सकते है |

धन्यवाद सहित
आप सब का अपना
ADMIN
OBO

Views: 72195

Reply to This

Replies to This Discussion

प्रिय और आदरणीय गणेश बागी जी प्रभु आप के सारे प्यारे सपनों को साकार करे जन्म दिन की ढेर सारी हार्दिक शुभ कामनाएं(विलम्बित ) आप यूं ही जहां को रोशन करते बढे चलें
भमर ५

मेरी तरफ से भी आदरणीय श्री बागी जी को उनके जन्मदिन की हर्दिक शुभकामनाएं 

janamdin ki bahut bahut shubhkamna ganesh bhaiya....bhagwaan se ehe prarthana baa ki raur har ek khwahish poora ho aur raur umir duniya me sabse jyada ho.............
happy birthday ganesh bhaiya.........

janam din mubarak ho ganesh ji 04.05.10
बड़े ही दुःख के साथ कहना पड़ रहा है कि ऒपन बुक्स आनलाइन परिवार के सदस्य श्री कुलदीप श्रीवास्तव जी के माता जी का स्वर्गवास दिनांक ३ मई को हो गया है, ईश्वर उनके आत्मा को शांति प्रदान करे तथा पूरे परिवार को इस अपार दुःख को सहने कि शक्ति दे, इस दुःख कि घड़ी मे ऒपन बुक्स आनलाइन परिवार आप के साथ है ।
ADMIN
OBO

बहुत ही दुखद सुचना..श्री कुलदीप श्रीवास्तव जी के माता जी का स्वर्गवास हो गया है, ईश्वर उनके आत्मा को शांति प्रदान करे तथा पूरे परिवार को इस अपार दुःख को सहने कि शक्ति दे, इस दुःख कि घड़ी मे ऒपन बुक्स आनलाइन परिवार आप के साथ है ।

भाई कुलदीप जी की माता जी के बारे में जान कर बहुत दुःख हुआ ! ईश्वर उनकी आत्मा को शान्ति प्रदान करें व समस्त परिवारीजनों को इस असीम दुःख को सहन करने की शक्ति दे! ...दुःख की इस घड़ी में हम सब उनके साथ हैं  !

मुझे भी कुलदीप जी की माता जी के बारे में जाकर अत्यंत दुख हुआ. ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति व उनके परिवार को इस दुख को झेलने की शक्ति प्रदान करें..ऐसी प्रार्थना  करती हूँ. 

बहुत ही दुखद सुचना मिली है, मन व्यथित हो गया है , पर क्या किया जा सकता है , यही विधि का बिधान है, जो आया है उसे एक दिन जाना ही पड़ता है, परम पिता परमेश्वर कुलदीप भैया के माता जी के आत्मा को शांति प्रदान करे और समूचा शोक संतृप्त परिवार को यह अथाह दुःख को सहन करने की शक्ति प्रदान करे, यही हमारी कामना है |
bhagwaan se prarthana hai ki bhagwaan mataji ki aatma ko shanti pradan kare aur kuldeep jee aur unke parivar ko ye dukh sahne ki shakti pradan kare.,
aaj mother's day ke saath ek aur baat hum batawe ke chahat bani ki aaj hamar maa aur papa ke shaaadi ke saalgirah ha......aaj hi ke din hamar maa aur papa ke shaadi bhail rahe.........

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on Sushil Sarna's blog post दोहा सप्तक ..रिश्ते
"आ. भाई सुशील जी, सादर अभिवादन। अच्छे दोहे हुए हैं। हार्दिक बधाई। आ. भाई मिथिलेश जी की बात का…"
16 minutes ago
Aazi Tamaam commented on Aazi Tamaam's blog post ग़ज़ल : मिज़ाज़-ए-दश्त पता है न नक़्श-ए-पा मालूम
"बहुत बहुत शुक्रिया आ ममता जी ज़र्रा नवाज़ी का"
12 hours ago
Aazi Tamaam commented on Aazi Tamaam's blog post ग़ज़ल : मिज़ाज़-ए-दश्त पता है न नक़्श-ए-पा मालूम
"बहुत बहुत शुक्रिया ज़र्रा नवाज़ी का आ जयनित जी"
12 hours ago
Aazi Tamaam commented on Aazi Tamaam's blog post ग़ज़ल : मिज़ाज़-ए-दश्त पता है न नक़्श-ए-पा मालूम
"ग़ज़ल तक आने व इस्लाह करने के लिए सहृदय शुक्रिया आ समर गुरु जी मक़्ता दुरुस्त करने की कोशिश करता…"
12 hours ago
Samar kabeer commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . . गिरगिट
"//सोचें पर असहमत//  अगर "सोचें" पर असहमत हैं तो 'करें' की जगह…"
14 hours ago
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . . गिरगिट
"आदरणीय समीर कबीर साहब , आदाब, सर सृजन के भावों को मान देने का दिल से आभार आदरणीय । 'हुए'…"
15 hours ago
Samar kabeer and Mamta gupta are now friends
15 hours ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर commented on Ashok Kumar Raktale's blog post गीत - पर घटाओं से ही मैं उलझता रहा
"वाह वाह वाह वाह वाह  आदरणीय अशोक रक्ताले जी, वाह क्या ही मनमोहक गीत लिखा है आपने। गुनगुनाते…"
yesterday
Samar kabeer commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . . गिरगिट
"जनाब सुशील सरना जी आदाब, अच्छे दोहे लिखे आपने, बधाई स्वीकार करें । 'गिरगिट सोचे क्या…"
yesterday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"हार्दिक आभार आपका।"
Sunday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"सही कहा आपने "
Sunday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion 'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 157 in the group चित्र से काव्य तक
"आदरणीय आप और हम आदरणीय हरिओम जी के दोहा छंद के विधान अनुरूप प्रतिक्रिया से लाभान्वित हुए। सादर"
Sunday

© 2024   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service