For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Ganga Dhar Sharma 'Hindustan''s Discussions (251)

Discussions Replied To (219) Replies Latest Activity

"आदरणीय प्रतिभा पांडे जी , अपनी बात कहने में पूरी तरह से सफल , विचार करने को प्रेरित…"

Ganga Dhar Sharma 'Hindustan' replied Jan 30 to "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-58 (विषय: परिवर्तन)

106 Jan 30
Reply by Sheikh Shahzad Usmani

"आदरणीय ओमप्रकाश जी, आधुनिकता के मिथ्या अहंकार पर चोट करती अत्यंत ही मार्मिक लघुकथा .…"

Ganga Dhar Sharma 'Hindustan' replied Jan 30 to "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-58 (विषय: परिवर्तन)

106 Jan 30
Reply by Sheikh Shahzad Usmani

"इक ओर है दुपट्टा इक ओर कहकशाँ है. किसकी कशिश बड़ी है  यह प्रश्न ही कहाँ है. . हर वक्त…"

Ganga Dhar Sharma 'Hindustan' replied Jan 24 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-115

128 Jan 25
Reply by Samar kabeer

"फिसलन (लघुकथा) अड़तीस बरस तहसील की बाबूगिरी के बाद इलाहाबाद से पेंसन लेकर पिछले दस सा…"

Ganga Dhar Sharma 'Hindustan' replied Oct 30, 2019 to "ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-55 (विषय: घर संसार)

100 Nov 1, 2019
Reply by योगराज प्रभाकर

"आदरणीय समर कबीर जी, ऐब ए तनाफुर से जुड़ी मेरी शंका के इतने सरल स्पष्टीकरण के लिए आपका…"

Ganga Dhar Sharma 'Hindustan' replied Dec 29, 2018 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-102

629 Dec 29, 2018
Reply by Samar kabeer

".....आदरणीय नवीन मणि त्रिपाठी जी , बहुत ही उम्दा गजल के लिए हार्दिक बधाई..."

Ganga Dhar Sharma 'Hindustan' replied Dec 29, 2018 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-102

629 Dec 29, 2018
Reply by Samar kabeer

"आदरणीय रवि शुक्ला जी , आपका हार्दिक आभार....."

Ganga Dhar Sharma 'Hindustan' replied Dec 29, 2018 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-102

629 Dec 29, 2018
Reply by Samar kabeer

"....आदरणीय मोहन बेगोवल जी, आपका हार्दिक धन्यवाद...."

Ganga Dhar Sharma 'Hindustan' replied Dec 29, 2018 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-102

629 Dec 29, 2018
Reply by Samar kabeer

"आदरणीय महेंद्र कुमार जी , आपका हार्दिक आभार...."

Ganga Dhar Sharma 'Hindustan' replied Dec 29, 2018 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-102

629 Dec 29, 2018
Reply by Samar kabeer

"आदरणीय राज नवादवी जी , आपका हार्दिक आभार....."

Ganga Dhar Sharma 'Hindustan' replied Dec 29, 2018 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-102

629 Dec 29, 2018
Reply by Samar kabeer

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Samar kabeer commented on मोहन बेगोवाल's blog post तरही ग़ज़ल
"जनाब मोहन बेगोवाल जी आदाब,ओबीओ के तरही मिसरे पर ग़ज़ल का प्रयास अच्छा है,बधाई स्वीकार करें…"
2 minutes ago
Usha Awasthi commented on Usha Awasthi's blog post धरणी भी आखिर रोती है
"हार्दिक धन्यवाद आपका"
9 minutes ago
Samar kabeer commented on vijay nikore's blog post जीवन्तता
"प्रिय भाई विजय निकोर जी आदाब, बहुत अच्छी रचना हुई है, इस प्रस्तुति पर बधाई स्वीकार करें ।"
10 minutes ago
vijay nikore commented on TEJ VEER SINGH's blog post प्रेम पत्र - लघुकथा -
"लघु कथा अच्छी बनी है। आनन्द आ गया , मित्र तेज वीर सिहं जी।"
1 hour ago
vijay nikore commented on Usha Awasthi's blog post धरणी भी आखिर रोती है
"रचना अच्छी लगी। हार्दिक बधाई, मित्र ऊषा जी।"
1 hour ago
vijay nikore commented on Samar kabeer's blog post एक ताज़ा ग़ज़ल
"सोचा, बता दूँ, जाने कितनी बार आपकी इस गज़ल ने मुझको बुलाया, इसे पढ़ कर हर बार मुझको बहुत लुत्फ़ आया।"
1 hour ago
vijay nikore commented on vijay nikore's blog post प्यार का प्रपात
"आपका हार्दिक आभार, मेरे भाई समर कबीर जी। मनोबल बढ़ाते रहें।"
1 hour ago
रवि भसीन 'शाहिद' posted a blog post

जानता हूँ मैं (ग़ज़ल)

221 2121 1221 212मज़ारे मुसम्मन अख़रब मक्फूफ़ महज़ूफ़ मफ़ऊलु फ़ाइलातु मुफ़ाईलु फ़ाइलुन.तेरे फ़रेब-ओ-मक्र सभी…See More
2 hours ago
मोहन बेगोवाल posted a blog post

तरही ग़ज़ल

 शख्स उसको भी तो दीवाना समझ बैठे थे हम l जो था अच्छा उस को बेचारा समझ बैठे थे हम lअब न जीतेगा ज़माना…See More
2 hours ago
Samar kabeer commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post तरही गजल - लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर'
"//गढ़ गये पुरखे जो मजहब की हमारे बीच में'// इस मिसरे को यूँ कर सकते हैं:- 'बीच जिसके दफ़्न…"
19 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post तरही गजल - लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर'
"आ. भाई समर कबीर जी, सादर अभिवादन । गजल पर उपस्थिति और मार्गदर्शन के लिए आभार ।  इंगित मिसरे को…"
23 hours ago
vijay nikore posted a blog post

जीवन्तता

जीवन्ततामाँकहाँ हो तुम ?अभी भी थपकियों में तुम्हारीमैं मुँह दुबका सकता हूँ क्यातुम्हारा चेहरा…See More
yesterday

© 2020   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service