For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Neelam Upadhyaya's Discussions (600)

Discussions Replied To (47) Replies Latest Activity

"Bahute badhiya."

Neelam Upadhyaya replied Dec 1, 2013 to लहरे तिरंगा झंडा अपना देश के शान |

1 Dec 1, 2013
Reply by Neelam Upadhyaya

मुख्य प्रबंधक

"बिहार में पकडुआ बियाह अइसन कुप्रथा पर बहुते करार व्यंग बा ई लघु कथा.  समाज के ई बुरा…"

Neelam Upadhyaya replied Oct 29, 2012 to भोजपुरी लघुकथा : पकडुआ बियाह

23 Jan 27, 2013
Reply by sanjiv verma 'salil'

मुख्य प्रबंधक

"बहुत बढ़िया रचना बा.  वास्तव में जीवन के सच्चाई ईहे बा कि नईहर छोड़े के परबे करेला ब…"

Neelam Upadhyaya replied Apr 10, 2012 to निर्गुण भोजपुरी गीत : पिया अईले बोलावे

25 Apr 22, 2012
Reply by Er. Ganesh Jee "Bagi"

मुख्य प्रबंधक

"Agar eh lekha pesh na aayee log ta neta kayise kahayi log........bhagwan bachawas ai…"

Neelam Upadhyaya replied Feb 24, 2012 to भोजपुरी लघु कथा :- चुनाव के बात अलग होला

22 Sep 28, 2012
Reply by Er. Ganesh Jee "Bagi"

मुख्य प्रबंधक

"अरे वाह, बड़ा कमाल के बात बा..........हम ता सोचियो ना सकत रहनी हा."

Neelam Upadhyaya replied Feb 7, 2012 to एगो प्रयोग :- भोजपुरी हाइकू

20 Oct 12, 2012
Reply by Er. Ganesh Jee "Bagi"

"Hamesha aisan bahute niman likhale bani. "

Neelam Upadhyaya replied Jan 24, 2012 to काहे रे जीवनबैरी जीवनबैरी पी ,

16 Jun 4, 2012
Reply by Deepak Sharma Kuluvi

"माटी के कड़ाही में जमावल दही के संगे अगर ओखर मे तुरंते के कुटाइल गरम गरम चिऊरा के बात…"

Neelam Upadhyaya replied Jan 16, 2012 to आवअ लवट चलीं गाँव के ओर

11 Jan 16, 2012
Reply by Neelam Upadhyaya

मुख्य प्रबंधक

"Bagi ji, Namaskar.  Bhojpuri gajal bahut badhiya lagal ha...bahut badhayee."

Neelam Upadhyaya replied Aug 4, 2011 to भोजपुरी ग़ज़ल ( गणेश जी "बागी" )

25 Jan 28, 2013
Reply by Dr.Prachi Singh

"bahaute niman ba.....badhayee!"

Neelam Upadhyaya replied Aug 3, 2011 to भोजपुरी गजल लिखे के कोशिश

3 Aug 3, 2011
Reply by Rash Bihari Ravi

"Hope for the best."

Neelam Upadhyaya replied Jun 8, 2011 to बतकही ( गपसप ) अंक 5

6 Jun 8, 2011
Reply by Neelam Upadhyaya

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Dayaram Methani replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-163
"पर्यावरण पर छंद मुक्त रचना। पेड़ काट करकंकरीट के गगनचुंबीमहल बना करपर्यावरण हमने ही बिगाड़ा हैदोष…"
28 minutes ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-163
"तंज यूं आपने धूप पर कस दिए ये धधकती हवा के नए काफिए  ये कभी पुरसुकूं बैठकर सोचिए क्या किया इस…"
3 hours ago
सुरेश कुमार 'कल्याण' replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-163
"आग लगी आकाश में,  उबल रहा संसार। त्राहि-त्राहि चहुँ ओर है, बरस रहे अंगार।। बरस रहे अंगार, धरा…"
4 hours ago
सुरेश कुमार 'कल्याण' joined Admin's group
Thumbnail

धार्मिक साहित्य

इस ग्रुप मे धार्मिक साहित्य और धर्म से सम्बंधित बाते लिखी जा सकती है,See More
4 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-163
"गजल (विषय- पर्यावरण) 2122/ 2122/212 ******* धूप से नित  है  झुलसती जिंदगी नीर को इत उत…"
12 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-163
"सादर अभिवादन।"
12 hours ago
Admin posted discussions
Tuesday
Admin added a discussion to the group चित्र से काव्य तक
Thumbnail

'ओबीओ चित्र से काव्य तक' छंदोत्सव अंक 156

आदरणीय काव्य-रसिको !सादर अभिवादन !!  …See More
Tuesday

सदस्य टीम प्रबंधन
Dr.Prachi Singh commented on मिथिलेश वामनकर's blog post कहूं तो केवल कहूं मैं इतना: मिथिलेश वामनकर
"बहुत सुंदर अभिव्यक्ति हुई है आ. मिथिलेश भाई जी कल्पनाओं की तसल्लियों को नकारते हुए यथार्थ को…"
Jun 7

सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey commented on मिथिलेश वामनकर's blog post कहूं तो केवल कहूं मैं इतना: मिथिलेश वामनकर
"आदरणीय मिथिलेश भाई, निवेदन का प्रस्तुत स्वर यथार्थ की चौखट पर नत है। परन्तु, अपनी अस्मिता को नकारता…"
Jun 6
Sushil Sarna posted blog posts
Jun 5
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post दोहा पंचक. . . . .
"आदरणीय मिथिलेश वामनकर जी सृजन के भावों को मान देने का दिल से आभार ।विलम्ब के लिए क्षमा सर ।"
Jun 5

© 2024   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service