For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Rash Bihari Ravi
  • Male
  • kolkata west bengal
  • India
Share

Rash Bihari Ravi's Friends

  • Hari Prakash Dubey
  • anwar suhail
  • umeshraghav
  • praveen singh "sagar"
  • राज़ नवादवी
  • sunil kumar singh
  • Kavita Verma
  • mohinichordia
  • Sanjay Mishra 'Habib'
  • Nagmani Hindustani
  • nirmla.kapila
  • Shashi Mehra
  • Atendra Kumar Singh "Ravi"
  • Nirajan Pravat Luitel
  • Yogyata Mishra

Rash Bihari Ravi's Discussions

फिल्म दलदल हेतु गीत चाहिए...
48 Replies

फिल्म दलदल हेतु गीत चाहिए... आदरणीय ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सदस्यों, जैसा की आप सभी को पता है कि मैं बालीवूड के कलाकारों को लेकर एक हिंदी फ़िल्म जागरण फिल्म्स के बैनर तले "दलदल" बनाने जा रहा हूँ , इस फ़िल्म के कई गीतों की रेकॉर्डिंग हो गई है |एक…Continue

Started this discussion. Last reply by Saurabh Pandey Jul 23, 2011.

लोकपाल बिल पे आप लोगों की राय चाहिए
29 Replies

दोस्तों लोकपाल बिल पे आप लोगों की राय चाहिए , अन्ना हजारे और सरकार के बिच जो द्वन्द युद्ध चल रहा हैं , वह देश हित में सही हैं या गलत , सही हैं तो क्यों गलत हैं तो कैसे ,Continue

Started this discussion. Last reply by Rash Bihari Ravi Aug 16, 2011.

अन्ना हजारे जी हम आपके साथ हैं ,
19 Replies

दोस्तों, अन्ना हजारे जी ने भ्रष्टाचार को खत्म करने का जो बीड़ा उठाया हैं,…Continue

Started this discussion. Last reply by Veerendra Jain Aug 22, 2011.

भगवान शिव का मंदिर और उस मंदिर के विषय में जितनी जानकारी हो यहाँ डाले...
10 Replies

हिंदुस्तान और एकरा से बाहर बहुत से भागवान शिव का मंदिर हैं यहाँ तक की करीब करीब हर जिला में मंदिर हैं उस मंदिर के बिसय में जितना जानकारी हो यहाँ डाले .हर हर महादेव ,Continue

Started this discussion. Last reply by आशीष यादव Aug 6, 2010.

RSS

Loading… Loading feed

 

Rash Bihari Ravi's Page

Profile Information

Gender
Male
City State
kolkata west bangal /
Native Place
chapra bihar
Profession
self
About me
milem ta jan jayem

ravi

Rash Bihari Ravi's Photos

  • Add Photos
  • View All

Rash Bihari Ravi's Videos

  • Add Videos
  • View All

Rash Bihari Ravi's Blog

बीत गए वो दिन ,

आज पुरानी वो यादें  ,
मन को लुभा रही हैं ,
बीत गए वो दिन ,
उनकी याद आ रही हैं ,
कितना अच्छा था बचपन ,
कितने अच्छे थे वो दिन…
Continue

Posted on September 1, 2012 at 3:00pm — 5 Comments

एक बार मेरे आँगन में कदम रखो श्रीमान ,

एक बार मेरे आँगन में कदम रखो श्रीमान ,

फिर समझ में आएगा कितने हो महान ,

एक तस्वीर जिसपे हम वर्षो से फूल चढ़ाते हैं ,

एक तस्वीर ऐसा  भी आओ तो तुझे दिखाते हैं ,

मरने वाला मर गया…

Continue

Posted on January 31, 2012 at 4:00pm — 2 Comments

आज भी मैं वही फूल हूँ ,

आज भी मैं वही फूल हूँ ,  

जो कल था खिला हुआ ,

था आँखों का तारा ,

था हर एक से घिरा हुआ ,

हर कोई चाहे लेना ,

मुझे हाथों हाथों में ,  

मैं खुश यूँ ही होता रहा ,

उनकी प्यारी बातों में…

Continue

Posted on December 5, 2011 at 11:30am — 4 Comments

लघुकथा - कामवाली

सुमन अपने सास को फोन कर रही थी तभी उसकी सहेली किरण वहाँ आ गई , सुमन उसे बैठने के लिए इशारा कर फोन पर बात करने लगी

 

"माँ जी, आप आ जाइये पप्पू रोज सुबह शाम आप को याद करता हैं .......

हाँ हाँ ! ये भी अपनी माँ को आपने पास पा कर…

Continue

Posted on December 1, 2011 at 12:30pm — 4 Comments

गुरु दोहावली

मन पागल बौराय है, इसे कोउ समझाय,

बीत गया है जो समय, लौट कभी न आय  !   
.
जिसकी जो गति वो लिखा वही बने तक़दीर ,…
Continue

Posted on October 22, 2011 at 2:00pm — 8 Comments

मरना चाहू मर ना पाउ ये क्या किया तू महंगाई ,

मरना चाहू मर ना पाउ ये क्या किया तू महंगाई ,

निर्लज हैं मनमोहन तुझे शर्म क्यों नहीं आई ,
बतीस के आधार बाना कर गरीबी ये मिटायेंगे ,
गरीबी से नाम कटेगा खाना फिर ना पाएंगे ,
हमको कहते बतीस में तुम अपना दिन…
Continue

Posted on October 15, 2011 at 1:16pm

क्रेडिट कार्ड, पर्सनल लोन,

क्रेडिट कार्ड

 

सपना दिखता हैं ,

पावर दिलाता हैं ,

खर्चे में तो तो पंख लगता हैं ,

ना हो पैसा फिर कम हो जाता हैं ,

लगे की दोस्तों में इज्जत बढ़ता हैं,

बिल जब आता हैं ,

पागल बनाता हैं…

Continue

Posted on October 15, 2011 at 11:30am — 2 Comments

गुरु

गुरु 

एक यैसा शब्द ,…
Continue

Posted on September 5, 2011 at 5:06pm — 4 Comments

उनके आदर्शो को याद कर ,

उनके आदर्शो को याद कर ,

आइये हम सब मिलकर ,
झूठ ही सही जीवन में उतर लें ,
आज शिक्षक दिवस मना लें ,
ये औपचारिकता ही सही पर ,
वाह-वाही उठाले एक गोष्टी कर ,
उनके आदर्शो को याद कर…
Continue

Posted on September 5, 2011 at 2:00pm — 11 Comments

जाही बिधि रखे राम ताहि बिधि रहिये ,

सीताराम, सीताराम, सीताराम, कहिये ,

जाही बिधि रखे राम ताहि बिधि रहिये ,

प्रभु मनमोहन को सदबुधि दीजिये ,

उनके साथियों को प्रभु सुमति कीजिये ,

सब हिंद वासी अब इतना ही चाहिए ,

सीताराम, सीताराम, सीताराम, कहिये ,

जाही…

Continue

Posted on September 3, 2011 at 2:30pm — 2 Comments

Comment Wall (45 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 5:01am on September 5, 2015,
सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर
said…

ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार की ओर से आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें...

At 10:13pm on September 5, 2012,
मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
said…

At 12:38pm on March 30, 2012, आशीष यादव said…
गुरू जी अब आप की चोट कैसी है?
आप जल्दी से ठीक हो जाये यही भगवान से प्रार्थना है।
At 11:25am on January 18, 2012, Shakur Khan said…
भारतीय संसद में "भारत माता की जय "का नारा लगन "जुर्म" है !

हम जिनको चुन के भेजे वो उसी संसद में गली-गलौज, हंगामा, करें तो कोई बात नहीं लेकिन एक आम आदमी जब अपनी समस्या लेकर उनके पास जाता है तो उसे अन्दर नहीं जाने दिया जाता.आज हरयाणा का एक नौजवान जब भ्रष्टाचार के "खिलाफ भारत माता की जय" का नारा लगता है तो उससे एक अपराधी की तरह ब्यवहार किया गया. उसने कोई कानून नहीं तोडा था उसके पास अन्दर जाने का पास था उसका कसूर केवल इतना था की वो अपनी परेशानी देश की समस्या और जनता की आवाज़ देश के नेताओ तक पहुचने की कोशिश कर रहा था.

कांग्रेस के कई नेता वहां प्रेस कांफ्रेस के लिए खरे थे किसी ने उसको छोरने के लिए सुरक्षा कर्मियों से नहीं कहा सब तमाशबीन बने रहे अगर मीडिया वह ना होती तो पता नहीं उस नौजवान के साथ क्या होता ?



At 6:34am on December 30, 2011, आशीष यादव said…

guru ji dhanyawaad.

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Mahendra Kumar added a discussion to the group पुस्तक समीक्षा
Thumbnail

आधी जली हुई सिगरेट

पुस्तक : जाति कोई अफ़वाह नहीं (रोहित वेमुला की आॅनलाइन डायरी) …See More
9 minutes ago
Zohaib is now a member of Open Books Online
9 minutes ago
सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' commented on Manoj kumar shrivastava's blog post निःशब्द देशभक्त
"आद0 मनोज कुमार जी सादर अभिवादन। बेहतरीन भाव सम्प्रेषण क…"
57 minutes ago
सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' commented on रामबली गुप्ता's blog post कुंडलियाँ-रामबली गुप्ता
"आद0 रामबली जी सादर अभिवादन।बेहतरीन कुण्डलिया लिखीं आपने,बहुत …"
1 hour ago
सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' commented on Mohammed Arif's blog post जाड़े के दोहे
"आद0 मोहम्मद आरिफ जी सादर अभिवादन। जाड़े पर बेहतरीन शिल्प…"
1 hour ago
सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' commented on Naveen Mani Tripathi's blog post लोग तन्हाई में जब आपको पाते होंगे
"आद0 नवीन मणि जी सादर अभिवादन।बेहतरीन ग़ज़ल कही आपने। मेरी…"
1 hour ago
सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' commented on सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप''s blog post कुण्डलिया
"आद0 रामबली गुप्ता जी सादर अभिवादन। रचना पर आपके सुझावों…"
1 hour ago
सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' commented on सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप''s blog post कुण्डलिया
"आद0 मोहम्मद आरिफ जी सादर अभिवादन। आपकी विस्तृत प्रतिक्रिया&n…"
1 hour ago
Mohammed Arif commented on Sheikh Shahzad Usmani's blog post असलियत (लघुकथा)
"आदरणीय शेख शहज़ाद उस्मानी जी आदाब,                  …"
1 hour ago
Mohammed Arif commented on Mohammed Arif's blog post जाड़े के दोहे
"बहुत-ब हुत आभार आदरणीय रामबली गुप्ता जी । लेखन सार्थक हो गया ।"
1 hour ago
Sheikh Shahzad Usmani posted a blog post

असलियत (लघुकथा)

"पंडित जी, अब ज़रा गायत्री बिटिया को बुला लो, डाक पावती की इंट्री वग़ैरह करवा दो हमारे मोबाइल में!"…See More
2 hours ago
somesh kumar posted blog posts
2 hours ago

© 2017   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service