For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

rakesh naraian
  • Male
  • jodhpur
  • India
Share
  • Feature Blog Posts
  • Discussions (6)
  • Events
  • Groups
  • Photos
  • Photo Albums
  • Videos

Rakesh naraian's Friends

  • Kanchan Pandey
  • asha pandey ojha
  • Ratnesh Raman Pathak
  • Babita Gupta
  • Er. Ganesh Jee "Bagi"

rakesh naraian's Discussions

kavita ke bare
7 Replies

kavita kya hai ?do sabdon ke beech ka maun kavita hai ....ajyenji(pl write yr definition of poem )Continue

Started this discussion. Last reply by rakesh naraian May 2, 2010.

 

rakesh naraian's Page

Profile Information

City State
jodhpur,rajasthan
Native Place
jodhpur
Profession
GOVT JOB
About me
I m poet

विलोपित हो जाना

जानना
पहिचानना
फिर चाहना
फिर अपेक्षाएं करना
निराश होना
लड़ना ,झगड़ना
क्रोध ,अहंकार
के पोखर में नहाना
फिर

कभी न मिलने का संकल्प कर
विलोपित हो जाना
अपेक्षाओं को क्यों जाग्रत होने देना ?

Comment Wall (5 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 4:10pm on May 3, 2010,
मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
said…

At 10:49am on May 3, 2010, asha pandey ojha said…
aapka bahut bahut aabhar Rakesh ji ..!
At 7:44pm on May 2, 2010, Ratnesh Raman Pathak said…

At 10:33am on May 2, 2010, Admin said…

At 10:31am on May 2, 2010, PREETAM TIWARY(PREET) said…

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Blogs

Latest Activity

PHOOL SINGH commented on धर्मेन्द्र कुमार सिंह's blog post अख़बारों की बातें छोड़ो कोई ग़ज़ल कहो (ग़ज़ल)
"बहुत सुंदर रचना,  हार्दिक बधाई "
47 minutes ago
PHOOL SINGH commented on अजय गुप्ता's blog post ग़ज़ल (छिपा बैठा चितेरा है)
"सुंदर गजल,  हार्दिक बधाई "
49 minutes ago
PHOOL SINGH commented on Tasdiq Ahmed Khan's blog post ग़ज़ल (प्यार का हर दस्तूर निभाना पड़ता है)
"बहुत सुंदर रचना ,बधाई स्वीकारे"
50 minutes ago
PHOOL SINGH commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post घुटन के इन दयारों में तनिक परिहास बढ़ जाये - लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' (गजल)
"सुंदर ग़ज़ल की प्रस्तुति, बधाई स्वीकारे "
52 minutes ago
PHOOL SINGH commented on Naveen Mani Tripathi's blog post ग़ज़ल
"सूंदर रचना बधाई स्वीकारे""
53 minutes ago
Alok Rawat commented on डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव's blog post सारे जहाँ से अच्छा (कहानी )
"बहुत ज़बरदस्त लघुकथा लिखी है आदरणीय डॉक्टर श्रीवास्तव जी। बहुत करारा व्यंग्य है।"
1 hour ago
PHOOL SINGH commented on Nilesh Shevgaonkar's blog post ग़ज़ल नूर की- सँभाले थे तूफ़ाँ उमड़ते हुए
"वाह-वाह क्या बात है बहुत ही सूंदर ग़ज़ल, बधाई स्वीकारें"
2 hours ago
PHOOL SINGH commented on Dayaram Methani's blog post ग़ज़ल: आइना बन सच सदा सबको दिखाता कौन है
"अच्छी ग़ज़ल बन पड़ी है बधाई स्वीकारें"
2 hours ago
PHOOL SINGH commented on Sushil Sarna's blog post देर तक ....
"अच्छी कविता बन पड़ी है बधाई स्वीकारें"
2 hours ago
PHOOL SINGH commented on PHOOL SINGH's blog post जाम से मुक्त, सारे शहर को कर दूँ
"आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद"
2 hours ago
PHOOL SINGH commented on VIRENDER VEER MEHTA's blog post दूरदृष्टि - लघुकथा
"बहुत ही सुंदर रचना है बधाई स्वीकारें"
2 hours ago
राज़ नवादवी commented on Dayaram Methani's blog post ग़ज़ल: आइना बन सच सदा सबको दिखाता कौन है
"आदरणीय दयाराम मेथानी जी, सुन्दर ग़ज़ल की प्रस्तुति पे दाद के साथ मुबारकबाद. सादर. "
3 hours ago

© 2018   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service