For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

खेल (8)

Discussions Replies Latest Activity

तो क्या यही हश्र धोनी और सचिन का भी होने वाला हैं ?

हम वर्ल्ड कप जीत गए वो भी 28 साल बाद, आज के हीरो धोनी, सचिन, सहवाग, गंभीर, रैना इत्यादि, हम ख़ुशी मना रहे हैं मनाना भी चाहिए मगर उनका क्या…

Started by Rash Bihari Ravi

2 Apr 15, 2011
Reply by Er. Ganesh Jee "Bagi"

इंडिया - न्युजीलेन्ड दूसरा टेस्ट

Friends as you all know, India-NewZeeland seond test match is going on at Rajiv Gandhi International Stadium, Hyderabad. Those, who love cr…

Started by Navin C. Chaturvedi

60 Nov 16, 2010
Reply by Navin C. Chaturvedi

खेल के बहाने......

कामनवेल्थ गेम्स २०१० समाप्त.....जितनी अच्छी शुरुवात उतना ही शानदार समापन. अरे बंधुवो मैं स्वागत समारोह की बात कर रही हूँ...उसके पहले की नन्…

Started by Priti Kumari

0 Oct 18, 2010

कौन बनेगा बलि का बकरा ?

वन्दे मातरम बंधुओं, कामन वैल्थ खत्म हो चुके हैं .......... इसमें करोड़ों करोड़ रूपये का घोटाला हुआ ये आप और हम सभी जानते है ........ सरकारी…

Started by rakesh gupta

3 Oct 18, 2010
Reply by Ratnesh Raman Pathak

क्या उचित है ?

वन्दे मातरम बंधुयों, हमारे खेल प्रशासकों ने दिल्ली गेम्स की तैयारी में इतने घपले-घोटाले किए कि इनका अर्थ ही बदल गया। अब तक सीडब्ल्यूजी का…

Started by rakesh gupta

5 Oct 7, 2010
Reply by rakesh gupta

क्या मीडिया की नकारात्मक सोच व्यापारिक आवश्कता है?

हमारा मीडिया, पिछले कुछ दिनों को छोड़कर, नकारात्मक भूमिका में ही दिखता रहा है. समाज में बहुत कुछ अच्छा भी हो रहा है पर उसके लिए पांच मिनट भ…

Started by Shesh Dhar Tiwari

2 Oct 5, 2010
Reply by Ratnesh Raman Pathak

राष्ट्रमंडल खेल : क्या देश की गरिमा बढेगी ?

कहाँ तक सही है ? राष्ट्र मंडल खेल का आयोजन, क्या इस खेल से देश की गरिमा बढ़ेगी ?

Started by Pooja Singh

9 Sep 26, 2010
Reply by abhinav

आई पी एल की ज्वाला

कहते मक्का कोलकाता को , लगता कुंभ है मुंबई मे काला कैसे हो सफेद ये होती सभा है दुबई मे , रुपयो की इस मधुशाला मे आओ आज रसपान कर लें IPL की म…

Started by ABHISHEK TIWARI

5 Apr 26, 2010
Reply by Rash Bihari Ravi

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Harash Mahajan posted a blog post

गम पे उठी ग़ज़ल तो वो दिल में उतर गयी (इस्लाही ग़ज़ल)

221 2121 1221 212...गम पे उठी ग़ज़ल तो वो दिल में उतर गयी,खुशियों का ज़िक्र आया कयामत गुज़र गयी ।इतनी…See More
38 minutes ago
Harash Mahajan commented on Harash Mahajan's blog post गम पे उठी ग़ज़ल तो वो दिल में उतर गयी
"आदरणीय समर कबीर जी आदाब । खुशनसीब हूँ सर कि आप की नज़र मेरी इस कृति पर पड़ी । आपकी कला से थोड़े में ही…"
49 minutes ago
dandpani nahak commented on Samar kabeer's blog post 'दिल में हमारे दर्द-ए- महब्बत रखा गया'
"वाह क्या बात है आदरणीय ! हर एक शय को हस्ब-ए-ज़रूरत रखा गया ! बहुत खूब"
2 hours ago
Samar kabeer commented on Naveen Mani Tripathi's blog post गज़ल
"जनाब नवीन मणि त्रिपाठी जी आदाब,ग़ज़ल का प्रयास अच्छा है,बधाई स्वीकार करें । मतले का सानी मिसरा यूँ कर…"
2 hours ago
Samar kabeer commented on Harash Mahajan's blog post गम पे उठी ग़ज़ल तो वो दिल में उतर गयी
"जनाब हर्ष महाजन साहिब आदाब,ग़ज़ल का प्रयास अच्छा है,बधाई स्वीकार करें । क़वाफ़ी के बारे में जनाब आरिफ़…"
3 hours ago
Usha Awasthi commented on Usha Awasthi's blog post समता दीपक जलना होगा
"शुक्रिया समर कबीर जी।"
4 hours ago
Tasdiq Ahmed Khan commented on Samar kabeer's blog post 'दिल में हमारे दर्द-ए- महब्बत रखा गया'
"मुहतरम जनाब समर कबीर साहिब, उम्दा ग़ज़ल हुई है ,शेर दर शेर मुबारकबाद क़ुबूल फरमाएं । शेर3 के उला मिसरे…"
4 hours ago
Tasdiq Ahmed Khan commented on Tasdiq Ahmed Khan's blog post ग़ज़ल (जो अज़मे तर्के उल्फ़त कर रहा है )
"जनाब सलीम रज़ा साहिब , ग़ज़ल पर आपकी खूबसूरत प्रतिक्रिया और हौसला  अफ़ज़ाई का बहुत बहुत शुक्रिया।"
4 hours ago
SALIM RAZA REWA commented on Tasdiq Ahmed Khan's blog post ग़ज़ल (जो अज़मे तर्के उल्फ़त कर रहा है )
"वाह  वाह जनाब तस्दीक अहमद साहिब, क्या उम्दा गज़ल हुई है.. मुबारक़बाद क़ुबूल करें  दिले…"
4 hours ago
SALIM RAZA REWA commented on Samar kabeer's blog post 'दिल में हमारे दर्द-ए- महब्बत रखा गया'
"वाह वाह जनाब समर साहब, बहुत ही खूबसूरत रदीफ़ क़फ़िया से सजी ग़ज़ल हुई है एक एक शेर ख़ूबसूरत...…"
5 hours ago
Mohammed Arif posted blog posts
5 hours ago
amod srivastav (bindouri) commented on Samar kabeer's blog post 'दिल में हमारे दर्द-ए- महब्बत रखा गया'
"आ दादा बहुत सुंदर रचना नमन  मुझे ..बहुत अच्छे लगे .. लेता नही....आमाल का हिसाब  और इसके…"
5 hours ago

© 2018   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service