For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

shree suneel's Groups (7)

  • हिंदी की कक्षा

    181 members Latest Activity: May 5 हिंदी सीखे : वार्ताकार - आचार्य श्री संजीव वर्मा "सलिल"

  • अतिथि की कलम से

    18 members Latest Activity: Oct 24, 2014

    "अतिथि की कलम से" समूह में ऐसे साहित्यकारों की रचनाओं को प्रकाशित किया जायेगा जो ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के सदस्य नहीं है किन्तु अपनी रचनाओं को…

  • पुस्तक समीक्षा

    119 members Latest Activity: May 2 इस ग्रुप में पुस्तकों की समीक्षा लिखी जा सकती है |

  • बाल साहित्य

    167 members Latest Activity: May 12 यहाँ पर बाल साहित्य लिखा जा सकता है |

  • ग़ज़ल की कक्षा

    362 members Latest Activity: on Friday

    इस समूह मे ग़ज़ल की कक्षा आदरणीय श्री तिलक राज कपूर द्वारा आयोजित की जाएगी, जो सदस्य सीखने के इच्‍छुक है वो यह ग्रुप ज्वाइन कर लें…

  • चित्र से काव्य तक

    380 members Latest Activity: 22 hours ago

    "ओ बी ओ चित्र से काव्य तक छंदोंत्सव" में भाग लेने हेतु सदस्य इस समूह को ज्वाइन कर ले |

  • भारतीय छंद विधान

    208 members Latest Activity: 21 hours ago

    इस समूह में भारतीय छंद शास्त्रों पर चर्चा की जा सकती है | जो भी सदस्य इस ग्रुप में चर्चा करने के इच्छुक हों वह सबसे पहले इस ग्रुप को कृपया ज्वाइन…

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

गिरधारी सिंह गहलोत 'तुरंत ' commented on गिरधारी सिंह गहलोत 'तुरंत ''s blog post नदी इंकार मत करना कभी तू अपनी क़ुर्बत से (१०७ )
"भाई सालिक गणवीर  जी , इस उत्साहवर्धक प्रतिक्रिया के लिए बहुत बहुत आभार "
12 minutes ago
सालिक गणवीर commented on सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप''s blog post ग़ज़ल- हर कोई अनजान सी परछाइयों में क़ैद है
"आदरणीय भाई सुरेन्द्रसिंह जीआदाब एक और लाजवाब ग़ज़ल के लिए मेरी हार्दिक शुभकामनाएं स्वीकारें. …"
24 minutes ago
सालिक गणवीर commented on Rupam kumar -'मीत''s blog post बे-सबब होंठ मुस्कुराते है
"प्रिय रुपमआदाब एक और लाजवाब ग़ज़ल के लिए मेरी हार्दिक शुभकामनाएं स्वीकारें. खूब लिखेंं. सप्रेम."
29 minutes ago
रवि भसीन 'शाहिद' and Dr Ashutosh Mishra are now friends
31 minutes ago
सालिक गणवीर commented on गिरधारी सिंह गहलोत 'तुरंत ''s blog post नदी इंकार मत करना कभी तू अपनी क़ुर्बत से (१०७ )
"आदरणीय गहलोत जी सादर अभिवादन एक और शानदार ग़ज़ल की प्रस्तुति के लिए हार्दिक बधाइयाँ स्वीकार करें."
40 minutes ago
Rupam kumar -'मीत' commented on Rupam kumar -'मीत''s blog post बे-सबब होंठ मुस्कुराते है
"जनाब रवि भसीन साहब जी आदाब! आपने जो सुझाओ दिए वो मैं ठीक कर लूँगा। और रही बात मक़्ता कहने की, वो मैं…"
1 hour ago
Dimple Sharma posted a blog post

बेख़ौफ़ हम

कहा रूक जा सब ने, बेख़ौफ़ हम चले गांव जल्दी से बेख़ौफ़ हमकहीं एक विधवा अकेले खड़ी खड़े साथ उसके ले…See More
1 hour ago
Dimple Sharma commented on Dimple Sharma's blog post वहाँ एक आशिक खड़ा है ।
"आदरणीय TEJ VEER SINGH जी नमस्ते, मेरी ग़ज़ल पर आपके विचार बहुत मायने रखते हैं बधाई हेतु धन्यवाद…"
1 hour ago
सालिक गणवीर commented on Ram Awadh VIshwakarma's blog post ग़ज़ल - एक अरसे से जमीं से लापता है इन्किलाब
3 hours ago
सालिक गणवीर commented on Ram Awadh VIshwakarma's blog post ग़ज़ल - एक अरसे से जमीं से लापता है इन्किलाब
3 hours ago
सालिक गणवीर commented on Ram Awadh VIshwakarma's blog post ग़ज़ल - एक अरसे से जमीं से लापता है इन्किलाब
"आदरणीय राम अवध विश्वकर्मा जी सादर अभिवादन एक और अच्छी ग़ज़ल की प्रस्तुति के लिए हार्दिक बधाइयाँँ…"
3 hours ago
सालिक गणवीर commented on Ram Awadh VIshwakarma's blog post ग़ज़ल - एक अरसे से जमीं से लापता है इन्किलाब
"आदरणीय राम अवध विश्वकर्मा जी सादर अभिवादन एक और अच्छी ग़ज़ल की प्रस्तुति के लिए हार्दिक बधाइयाँँ…"
3 hours ago

© 2020   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service