For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Santosh Kumar
Share

Santosh Kumar's Friends

  • Manoj Bhawuk
  • Vikash Pandey
  • आशीष यादव
  • Prabhakar Pandey
  • Bijnesh Kumar Singh
  • Satyendra Kumar Upadhyay
  • Kuldeep Kumar
  • Er. Ganesh Jee "Bagi"
  • Rash Bihari Ravi

Santosh Kumar's Groups

 

Santosh Kumar's Page

Profile Information

Gender
Male
City State
Delhi
Native Place
Bettiah
Profession
service
About me
Editor: Bhojpuri Zindagi, Purvanchur

Santosh Kumar's Blog

इग्नू में भोजपुरी भाषा में सर्टिफिकेट कार्यक्रम

दिनांक 1 सितम्बर, 2011 को इग्नू के "भोजपुरी भाषा, साहित्य संस्कृति केंद्र" द्वारा पाठ्यक्रम निर्माण सम्बन्धी प्रथम वैठक आयोजित की गई, भोजपुरी भाषा में 'सर्टिफिकेट कार्यक्रम' से सम्बंधित पाठ लेखकों की इस बैठक में देश के विभिन्न कोने से भोजपुरी भाषा से सम्बंधित साहित्यकार, चिन्तक, व्याकरणाचार्य, संपादक, भाषाविद आदि विद्वानों ने हिस्सा लिया | डॉ.गुरचरण सिंह (कुंवर सिंह विश्वविद्यालय, आरा, सासाराम), डॉ. जयकांत सिंह जय( बी.आर.आंबेडकर विश्वविद्यालय मुजफ्फरपुर), डॉ, विनय कुमार सिंह (बनारस हिन्दू…

Continue

Posted on September 5, 2011 at 1:30pm

Comment Wall (7 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 11:30pm on March 4, 2011,
मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
said…
At 11:41am on March 4, 2011, R N Tiwari said…
सुदिनं सुदिनं जन्मदिनम तव, भवतु मंगलम जन्मदिनम |
विजयी भव सर्वत्र सर्वदा, भवतु मंगलम जन्मदिनम ||
जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाये ........................
At 4:16am on March 4, 2011, राजेश शर्मा said…

जन्मदिन मुबारक संतोष कुमार जी.

At 10:35pm on October 18, 2010, Ratnesh Raman Pathak said…

Ratnesh Raman Pathak
At 1:06pm on October 18, 2010, PREETAM TIWARY(PREET) said…

At 12:54pm on October 18, 2010,
मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
said…
At 12:44pm on October 18, 2010, Admin said…

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Samar kabeer commented on रवि भसीन 'शाहिद''s blog post जानता हूँ मैं (ग़ज़ल)
"जनाब रवि भसीन 'शाहिद' जी आदाब,ग़ज़ल का अच्छा प्रयास अच्छा है,बधाई स्वीकार करें…"
34 minutes ago
Samar kabeer commented on मोहन बेगोवाल's blog post तरही ग़ज़ल
"जनाब मोहन बेगोवाल जी आदाब,ओबीओ के तरही मिसरे पर ग़ज़ल का प्रयास अच्छा है,बधाई स्वीकार करें…"
41 minutes ago
Usha Awasthi commented on Usha Awasthi's blog post धरणी भी आखिर रोती है
"हार्दिक धन्यवाद आपका"
48 minutes ago
Samar kabeer commented on vijay nikore's blog post जीवन्तता
"प्रिय भाई विजय निकोर जी आदाब, बहुत अच्छी रचना हुई है, इस प्रस्तुति पर बधाई स्वीकार करें ।"
49 minutes ago
vijay nikore commented on TEJ VEER SINGH's blog post प्रेम पत्र - लघुकथा -
"लघु कथा अच्छी बनी है। आनन्द आ गया , मित्र तेज वीर सिहं जी।"
1 hour ago
vijay nikore commented on Usha Awasthi's blog post धरणी भी आखिर रोती है
"रचना अच्छी लगी। हार्दिक बधाई, मित्र ऊषा जी।"
1 hour ago
vijay nikore commented on Samar kabeer's blog post एक ताज़ा ग़ज़ल
"सोचा, बता दूँ, जाने कितनी बार आपकी इस गज़ल ने मुझको बुलाया, इसे पढ़ कर हर बार मुझको बहुत लुत्फ़ आया।"
1 hour ago
vijay nikore commented on vijay nikore's blog post प्यार का प्रपात
"आपका हार्दिक आभार, मेरे भाई समर कबीर जी। मनोबल बढ़ाते रहें।"
1 hour ago
रवि भसीन 'शाहिद' posted a blog post

जानता हूँ मैं (ग़ज़ल)

221 2121 1221 212मज़ारे मुसम्मन अख़रब मक्फूफ़ महज़ूफ़ मफ़ऊलु फ़ाइलातु मुफ़ाईलु फ़ाइलुन.तेरे फ़रेब-ओ-मक्र सभी…See More
2 hours ago
मोहन बेगोवाल posted a blog post

तरही ग़ज़ल

 शख्स उसको भी तो दीवाना समझ बैठे थे हम l जो था अच्छा उस को बेचारा समझ बैठे थे हम lअब न जीतेगा ज़माना…See More
2 hours ago
Samar kabeer commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post तरही गजल - लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर'
"//गढ़ गये पुरखे जो मजहब की हमारे बीच में'// इस मिसरे को यूँ कर सकते हैं:- 'बीच जिसके दफ़्न…"
20 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post तरही गजल - लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर'
"आ. भाई समर कबीर जी, सादर अभिवादन । गजल पर उपस्थिति और मार्गदर्शन के लिए आभार ।  इंगित मिसरे को…"
23 hours ago

© 2020   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service