For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव's Comments

Comment Wall (55 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 5:41am on December 9, 2013, vandana said…

आदरणीय श्री गोपाल सर सादर नमन एवं महीने का सक्रिय सदस्य चुने जाने पर आपको बहुत बहुत बधाई आपका आशीर्वाद मिला कृतज्ञ हूँ आप समान सक्रिय एवं वरिष्ठ जनों से सीखने को मिलता रहे यही प्रार्थना है 

At 12:06pm on December 6, 2013, Sushil Sarna said…

aadrneey Gopal Narain jee aapko vigat maah ke skriy sadasy ke roop men chynit hone ke uplaksh men haardik badhaaee 

At 10:39pm on December 5, 2013,
सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey
said…

आदरणीय गोपाल नारायणजी, आप उस घोषणा की जगह ही मिली प्रतिक्रियाओं पर अपने धन्यवाद साझा करें. विगत माह का सक्रियतम सस्य चयनित होने पर पुनः बधाई.

शुभ-शुभ

At 1:46pm on December 5, 2013, Nilesh Shevgaonkar said…

mअहिने के सक्रीय सदस्य चुने जाने पर आप को ढेरों बधाइयाँ ...

At 12:47pm on December 5, 2013, विजय मिश्र said…
श्रद्धेय श्रीगोपालजी ,
आपकी हिंदी साहित्य मेंप्रसंशनीय अभिरुचि रही है |आपको सम्मानित कर यह मंच भी गौरवान्वित अनुभव कर रहा होगा | आप ऐसे ही सरस्वती उपासना में लग्न रहें और हमें आपके रचना प्रसाद इस मंच से मिलते रहे| अनेक बधाईयाँ |
At 12:27pm on December 5, 2013,
मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
said…

आदरणीय डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव जी
सादर अभिवादन,
यह बताते हुए मुझे बहुत ख़ुशी हो रही है कि ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार में आपकी सक्रियता को देखते हुए OBO प्रबंधन ने आपको "महीने का सक्रिय सदस्य" (Active Member of the Month) घोषित किया है, बधाई स्वीकार करे | कृपया अपना पता और नाम (जिस नाम से ड्राफ्ट/चेक निर्गत होगा), बैंक खता विवरणी एडमिन ओ बी ओ को उनके इ मेल admin@openbooksonline.com पर उपलब्ध करा दें | ध्यान रहे मेल उसी आई डी से भेजे जिससे ओ बी ओ सदस्यता प्राप्त की गई है |
हम सभी उम्मीद करते है कि आपका सहयोग इसी तरह से पूरे OBO परिवार को सदैव मिलता रहेगा |

सादर । 


आपका
गणेश जी "बागी"
संस्थापक सह मुख्य प्रबंधक
ओपन बुक्स ऑनलाइन

At 12:35am on December 2, 2013,
सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey
said…

आपने व्यक्तिगत मेसेज/कोमेंट में रचना सम्बन्धी तथ्य प्रस्तुत किये हैं आदरणीय आभार.

वस्तुतः दोहे के कई रूप होते हैं लेकिन अभी २३ प्रकार मान्य हैं. उनमें भी वह रूप सर्वमान्य है जिसके कारण इस छंद का पूर्ण प्रभाव बना रहे और यह छंद स्वीकार्य मानक सुरों और गेयता के अनुसार प्रस्तुत हो सके. इस हेतु कतिपय विन्दु हैं जिनका एक रचनाकार के तौर पर साधा जाना आवश्यक है. दोहा की मात्रिकता एक बात है और चरणों तथा पदों का शाब्दिक संयोजन नितांत दूसरी बात. आपने दोहा छंद में संभव शब्द-संयोजन को मान तो दिया लेकिन मात्रिकता के मूल को बिसरा बैठे. साथ ही, अपने प्रस्तुत शब्द संयोजन को भी गड्डमड्ड कर दिया. इसी कारण, आदरणीय, मैंने आपको सूचित किया था.

इस मंच पर हम सभी समवेत सीख रहे हैं.

सादर

At 9:55pm on November 27, 2013, बृजेश नीरज said…

आदरणीय गोपाल जी, आपका हार्दिक आभार! आपका आशीष मेरे लिए बहुत आवश्यक है! 'परों को..' आप मुझसे या आदरणीय शरदिंदु जी से ले सकते हैं.

आपने नीरज मुझे नहीं कहा अच्छा ही है! वैसे नीरज मेरी पत्नी का भी नाम है! :)))))

आपके सतत स्नेह और आशीष का आकांक्षी हूँ!

सादर! 

At 3:13pm on November 22, 2013, Shyam Narain Verma said…

बहुत बहुत धन्यवाद जी ,  आपका हार्दिक आभार  |

At 9:33pm on November 19, 2013, CHANDRA SHEKHAR PANDEY said…

मित्रता अनुरोध स्वीकारने के लिए हार्दिक आभार माननीय।

At 2:52pm on November 19, 2013, वेदिका said…

आपका हार्दिक आभार आदरणीय!

At 8:33pm on November 14, 2013, बृजेश नीरज said…

मेरे कहे को मान देने के लिए आपका हार्दिक आभार!

At 10:51pm on November 13, 2013,
सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey
said…

आपका सादर आभार आदरणीय .. . आप रचनाओं पर हुई टिप्पणियों पर अपनी प्रतिक्रियाएँ वहीम्र्चनाओं  दे दिया करें

सादर

At 9:37pm on November 10, 2013, बृजेश नीरज said…

आपका हार्दिक आभार!

At 4:28pm on November 7, 2013,
सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey
said…

Sir, you are welcome with your positive views on posts on this platform.

Since, you have been commenting on all Hindi posts, I respectfully suggest you to comment in Hindi. You may not be having proper fonts to post your comments in Hindi in Devnagri script, you can, sir, use Roman script for Hindi comments till your system gets well-equipped with fonts for Devnagri script.

By the way, the Main Page of this platform does provide us with the method to use Devnagri script. 

Regards

Saurabh

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity


सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-162
"आदरणीय चेतन प्रकाश जी, बहुत बढ़िया प्रस्तुति। इस प्रस्तुति हेतु हार्दिक बधाई। सादर।"
7 hours ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-162
"आदरणीय समर कबीर जी हार्दिक धन्यवाद आपका। बहुत बहुत आभार।"
7 hours ago
Chetan Prakash replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-162
"जय- पराजय ः गीतिका छंद जय पराजय कुछ नहीं बस, आँकड़ो का मेल है । आड़ ..लेकर ..दूसरों.. की़, जीतने…"
11 hours ago
Samar kabeer replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-162
"जनाब मिथिलेश वामनकर जी आदाब, उम्द: रचना हुई है, बधाई स्वीकार करें ।"
18 hours ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर posted a blog post

ग़ज़ल: उम्र भर हम सीखते चौकोर करना

याद कर इतना न दिल कमजोर करनाआऊंगा तब खूब जी भर बोर करना।मुख्तसर सी बात है लेकिन जरूरीकह दूं मैं, बस…See More
yesterday

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-162
"मन की तख्ती पर सदा, खींचो सत्य सुरेख। जय की होगी शृंखला  एक पराजय देख। - आयेंगे कुछ मौन…"
yesterday
Admin replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-162
"स्वागतम"
yesterday
PHOOL SINGH added a discussion to the group धार्मिक साहित्य
Thumbnail

महर्षि वाल्मीकि

महर्षि वाल्मीकिमहर्षि वाल्मीकि का जन्ममहर्षि वाल्मीकि के जन्म के बारे में बहुत भ्रांतियाँ मिलती है…See More
Wednesday
Aazi Tamaam posted a blog post

ग़ज़ल: ग़मज़दा आँखों का पानी

२१२२ २१२२ग़मज़दा आँखों का पानीबोलता है बे-ज़बानीमार ही डालेगी हमकोआज उनकी सरगिरानीआपकी हर बात…See More
Wednesday
Chetan Prakash commented on Samar kabeer's blog post "ओबीओ की 14वीं सालगिरह का तुहफ़ा"
"आदाब,  समर कबीर साहब ! ओ.बी.ओ की सालगिरह पर , आपकी ग़ज़ल-प्रस्तुति, आदरणीय ,  मंच के…"
Wednesday
Ashok Kumar Raktale commented on Ashok Kumar Raktale's blog post कैसे खैर मनाएँ
"आदरणीय सुशील सरना साहब सादर, प्रस्तूत रचना पर उत्साहवर्धन के लिये आपका बहुत-बहुत आभार। सादर "
Tuesday
Erica Woodward is now a member of Open Books Online
Apr 9

© 2024   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service