For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Shashi Mehra
  • Male
  • Ferozepur
  • India
Share

Shashi Mehra's Friends

  • Bishwajit yadav
  • Gyanendra Nath Tripathi
  • डॉ. नमन दत्त
  • Dr Satya Prakash Mehra
  • Tilak Raj Kapoor
  • Er. Ambarish Srivastava
  • ASHVANI KUMAR SHARMA
  • madan kumar tiwary
  • Azeez Belgaumi
  • Lata R.Ojha
  • Anita Maurya
  • Abhinav Arun
  • योगराज प्रभाकर
  • rajni chhabra
  • Er. Ganesh Jee "Bagi"

Shashi Mehra's Groups

 

Shashi Mehra's Page

Profile Information

Gender
Male
City State
Firozepur
Native Place
Amritsar
Profession
Retd A.O. from Defence A/C Deptt, On 1-11-20011
About me
I am writing poetry since I was hardly of 17. Iwas inspired by the lyric writers for Films, who use to add emotions as per situations. I also wrote in my life under the titleShor-E-Dil, Now I m writing WALWALE.

Shashi Mehra's Videos

  • Add Videos
  • View All

Shashi Mehra's Blog

प्यार होना चाहिए ...

दिलनशीं और पुरमहक, किरदार होना चाहिए |

प्यार है दिल में अगर, तो प्यार होना चहिये ||

अहद कर लो, ना बुराई हम करेंगे, उम्र भर |

चाहो गिर्द अपने अगर, गुलज़ार होना चाहिए ||

छोड़ के खुदगार्जियाँ, खल्क-ए-खुदा की सोचिये |

मुफलिस-ओ-लाचार का, गमख्वार होना चाहिए ||

राह की दुश्वारियाँ, सब दूर करने के लिए |

हमसफ़र, हमराह, रब्ब सा, यार होना चाहिए ||

जानते हो मायने, गर लफ्ज़े-उल्फत के ‘शशि’ |

तब मोहम्मद मुस्तफ़ा से, प्यार…

Continue

Posted on February 25, 2013 at 2:00pm — 7 Comments

दुआ

जिसके हक़ में, मैं सदा, दिल से दुआ करता रहा |

वो हमेशा, मुझपे जाने, क्यूँ शुबहा करता रहा ||

दोस्त था कहने को मेरा, दोस्ती न कर सका |

दोस्ती के नाम पर ही वो, दगा करता रहा ||

हमकदम था चल रहा, पर हमनफस न बन सका |

मैं भला करता रहा, और वो बुरा करता रहा…

Continue

Posted on February 25, 2013 at 2:00pm — 8 Comments

शोर

जिसने खुद को ही, ज़माने से छुपा रखा है |

जाने किस शख्स ने नाम उसका, खुदा रखा है ||

सब बहाने से उसे, याद किया करते हैं |

दिल में दुनियाँ के, अजाब खौफ बिठा रखा है ||

हाथ तकदीर बनाने के ही, काम आते हैं |

क्या हथेली की लकीरों में, भला रखा है ||…

Continue

Posted on February 23, 2013 at 2:02pm — 7 Comments

वलवले

शोर कैसा भी हो, मेरे दिल को, अब भाता नहीं |

चहचहाना भी परिंदों का, सुना जाता नहीं ||

दावा करते थे, मेरा होने का,पहले जो कभी | 

नाम मेंरा उनके लब पर, आज-कल आता नहीं ||

हूँ चमन में,आज भी, पर दिल में, जंगल आ बसा |

अब तो आफत क्या, क्यामत से भी, घबराता नहीं ||

आँख करके बंद, चलने में हूँ, माहिर हो गया |

स्याह रातों में भी, दीवारों से, टकराता नहीं ||

क्यूँ 'शशि तू ज़िन्दगी…
Continue

Posted on October 5, 2012 at 7:22pm — 1 Comment

Comment Wall (8 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 9:37pm on August 27, 2011, Azeez Belgaumi said…

thank you so much

At 2:32pm on August 18, 2011, Rash Bihari Ravi said…

janamdin mubarak ho

 

At 12:04am on August 18, 2011,
मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
said…

At 9:40am on August 9, 2011, Abhinav Arun said…

आदरणीय श्री शशि जी आपके प्रेरणा भरे शब्दों ke लिए आभारी हूँ ! स्नेह बना रहे !!

At 10:26am on July 16, 2011, Admin said…

//जिन्हें, लोग कहते, किसान हैं //

शशि जी यह रचना गलत जगह पोस्ट हो गई है, दिए गए लिंक पर बने बॉक्स में पोस्ट करें .......(चित्र के ठीक नीचे बने बॉक्स में)

http://www.openbooksonline.com/group/pop/forum/topics/5170231:Topic:105164

At 10:35am on July 15, 2011, Admin said…

आदरणीय शशि जी, ओ बी ओ पर केवल अप्रकाशित रचना ही पोस्ट की जा सकती है आपकी रचना 

खौफ अब, हर ख़ुशी से आता है |
मेरा माझी, मुझे डराता है ||
पूर्व प्रकाशित है |
अधिक जानकारी के लिए ओ बी ओ नियमावली देखने हेतु यहाँ क्लिक करे |
At 2:11pm on July 6, 2011, PREETAM TIWARY(PREET) said…
At 11:58am on July 6, 2011, Admin said…
 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

सालिक गणवीर commented on सालिक गणवीर's blog post ग़ज़ल ( ये नया द्रोहकाल है बाबा...)
"आदरणीय भाई लक्ष्मण धामी जी. सादर प्रणाम बकौल दुश्यंत कुमार.. सिर्फ़ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद…"
5 hours ago
सालिक गणवीर commented on सालिक गणवीर's blog post ग़ज़ल ( ये नया द्रोहकाल है बाबा...)
"आदरणीय भाई लक्ष्मण धामी जी. सादर प्रणाम बकौल दुश्यंत कुमार.. सिर्फ़ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद…"
5 hours ago
रणवीर सिंह 'अनुपम' commented on रणवीर सिंह 'अनुपम''s blog post हल हँसिया खुरपा जुआ (कुंडलिया)
"आदरणीय, अग्रज राम अवध जी नमन। उत्साहवर्धन के लिए धन्यवाद।"
8 hours ago
रणवीर सिंह 'अनुपम' commented on रणवीर सिंह 'अनुपम''s blog post हल हँसिया खुरपा जुआ (कुंडलिया)
"आदरणीय, अग्रज कबीर जी नमन। उत्साहवर्धन के लिए धन्यवाद।"
8 hours ago
Anvita commented on Anvita's blog post चाहती हूँ
"माननीय अमीरूददीन साहब प्रणाम ।आपका हार्दिक धन्यवाद ।रचना पसंद आई जानकर अच्छा लगा ।सादर।अन्विता ।"
8 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on Sushil Sarna's blog post जीवन पर कुछ दोहे :
"आ . भाई सुशील जी, सादर अभिवादन । अच्छे दोहे हुए हैं । हार्दिक बधाई ।"
8 hours ago
Samar kabeer commented on Admin's page FAQ
"डिम्पल जी,मैंने आपको फ़ोन पर समझाया तो था,अगर और समझना हो तो फिर से फ़ोन कर सकती हैं । आपकी टिप्पणी…"
9 hours ago
Dimple Sharma commented on Admin's page FAQ
"अपनी रचना पर आए कमेंट्स पर अपनी प्रतिक्रिया कैसे दें..?"
9 hours ago
Pratibha Sharma left a comment for Pratibha Sharma
"बहुत बहुत शुक्रिया आपका"
9 hours ago
अमीरुद्दीन 'अमीर' commented on Anvita's blog post चाहती हूँ
"वाह। सुश्री अन्विता जी, ग़ज़ब का चिन्तन और सृजन है। मन के तारों को झंकृत कर दिया आपकी रचना…"
9 hours ago
अमीरुद्दीन 'अमीर' left a comment for Pratibha Sharma
"सुश्री प्रतिभा शर्मा जी, आदाब। ओबी ओ के मंच पर आपका हार्दिक स्वागत करते हैं। "
10 hours ago
Pratibha Sharma is now a member of Open Books Online
10 hours ago

© 2020   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service