For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Dr. Shashibhushan
  • Male
  • Varanasi (U.P.)
  • India
Share
  • Feature Blog Posts
  • Discussions
  • Events
  • Groups (1)
  • Photos
  • Photo Albums
  • Videos

Dr. Shashibhushan's Friends

  • कुमार गौरव अजीतेन्दु
  • ASHISH KUMAR DUBEY
  • SURENDRA KUMAR SHUKLA BHRAMAR
  • RAJEEV KUMAR JHA
  • Chaatak
  • PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA
  • राकेश त्रिपाठी 'बस्तीवी'
  • minu jha
  • pardeep yadav
  • आशीष यादव

Dr. Shashibhushan's Groups

 

Dr. Shashibhushan's Page

Profile Information

Gender
Male
City State
Varanasi (U.P.)
Native Place
Varanasi (U.P.)
Profession
Graphic Designer
About me
A simple Indian

Comment Wall (13 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 10:54am on September 1, 2012, लक्ष्मण रामानुज लडीवाला said…
डॉ. शशि भूषण जी, जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनाए | इस्श्वर आपको परिवार,
समाज और राष्ट्र की सेवा करने, आपने लक्षों को हासिल करने की शक्ति और साहस
प्रदान करे | आपका हमारा साथ बना रहे-लक्ष्मण प्रसाद लडीवाला,जयपुर  
At 10:40am on September 1, 2012, Pradeep Kumar Kesarwani said…

जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें 

At 9:06am on May 19, 2012, डॉ. सूर्या बाली "सूरज" said…

डॉ साहब कैसे हैं? आजकल कहाँ हैं आप जो लोग इतना दहाड़े मार मार कर रो रहे हैं आप के लिए। अब आ भी जाइए और झलक भी दिखलायिए !! स्वागतम !

At 5:09pm on April 5, 2012, PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA said…

TUM NA JAANE IS JAHAN MAIN KHO GAYE 

IS BHARI DUNIA MAIN HAM AKELE HO GAYE

TUM CHALE AAO , TUM CHALE AAO

SUHANI RAAT DHAL CHUKI HAI AB NA JAANE TUM KAB AAOGE. 

CHODO KAL KI BAATEN KAL KI BAAT PURANI 

HAM SAB MIL KAR LIKHENGE FIR SE NAYII KAHANI

HAM HINDUSTAANI HAM HINDUSTAANI

AAVAJ DO KAHAN HO ..? YE LINE PURI KARIYE. BHAI KI PUKAR HAI.

At 10:45pm on April 2, 2012, PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA said…

sathi nirdayi kyon hai jawahar bhai.

At 10:17pm on April 2, 2012, JAWAHAR LAL SINGH said…
प्रदीप जी ने जो दर्द की मूर्ती गढ़ी थी आपने उसमे प्राण डाल दी!!!
इसे कहते है एक  कलाकार का दुसरे कलाकार को साथ देना!
At 7:47am on March 22, 2012, JAWAHAR LAL SINGH said…

adarneey shashi mahoday, 

ab dhartee kanpegee ambar ab dhdkega,

dushman kee chhatee par astra jab barsega!

the raam lakhan kafee rawan ko sadhan ko,

the khade wibheeshan, kapi, naag ko nathan ko!

karata hoo nity pranam gurujee darshan do!

mera man bhee taiyar bhuja bhee fadkan ko!

pun: pranam! 

At 6:05am on March 18, 2012, JAWAHAR LAL SINGH said…

आदरणीय डॉ. शशिभूषण साहब, नयी रचना कब आ रही है! आप और कुशवाहा जी की चुटकी पढ़ने का बड़ा मन कर रहा है.

At 5:23am on March 18, 2012, JAWAHAR LAL SINGH said…

'होरहा' तैयार हो रहा है. आइये मिल बाँट कर खाए और अब चैता का आनंद लें!

कोइली करेली पुकार हो राम चैत महीनवा......

At 10:45pm on March 16, 2012,
मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
said…

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Rachna Bhatia posted a blog post

ग़ज़ल-राम जी

2122 2122 212 1सत्य के पथ पर चलाएँ राम जीरहना मर्यादित सिखाएँ राम जी2ज़ात मज़हब से न रखकर…See More
11 hours ago
सालिक गणवीर commented on सालिक गणवीर's blog post ( बेजान था मैं फिर भी तो मारा गया मुझे......(ग़ज़ल :- सालिक गणवीर)
"आदरणीय भाई ब्रजेश कुमार जी सादर अभिवादन ग़ज़ल पर आपकी उपस्थिति और सराहना के लिए हार्दिक आभार."
13 hours ago
सालिक गणवीर commented on सालिक गणवीर's blog post ( बेजान था मैं फिर भी तो मारा गया मुझे......(ग़ज़ल :- सालिक गणवीर)
"आदरणीय भाई बसंत कुमार शर्मा जी सादर अभिवादन ग़ज़ल पर आपकी उपस्थिति और सराहना के लिए हार्दिक आभार."
13 hours ago
सालिक गणवीर commented on सालिक गणवीर's blog post ( बेजान था मैं फिर भी तो मारा गया मुझे......(ग़ज़ल :- सालिक गणवीर)
"आदरणीय भाई आजी तमाम जी आदाब ग़ज़ल पर आपकी उपस्थिति और सराहना के लिए हार्दिक आभार"
13 hours ago
सतविन्द्र कुमार राणा posted a blog post

बिना बात की बात

बिना बात की बात बनाते, लोग यहाँ दिख जाते हैं जैसे उल्लू सीधा होता, वैसे ही बिक जाते हैं।धर्म नहीं…See More
14 hours ago
बसंत कुमार शर्मा commented on atul kushwah's blog post मेरे किरदार को ऐसी कहानी कौन देता है...
"आदरणीय  atul kushwah  जी सादर नमस्कार  बहुत बढ़िया गजल बधाई आपको "
17 hours ago
Usha Awasthi commented on Usha Awasthi's blog post कुछ उक्तियाँ
"आ0 सुशील सरन जी , हार्दिक आभार आपका"
yesterday
Sushil Sarna commented on Sushil Sarna's blog post मन पर दोहे ...........
"सृजन के भावों को मान देने का दिल से आभार आदरणीय बसंत कुमार शर्मा जी ।बहुत सुंदर सुझाव । हार्दिक…"
yesterday
Sushil Sarna commented on Usha Awasthi's blog post कुछ उक्तियाँ
"वाह भावपूर्ण प्रस्तुति आदरणीया ऊषा जी । हार्दिक बधाई"
yesterday
Rohit Dubey "योद्धा " posted a blog post

नानी की कमी जीवन पर्यन्त याद आएगी!

नानी की कमी जीवन पर्यन्त याद आएगी ,आंखें मेरी क्षण-क्षण अक्षुओं से भर आएंगीखाये जिनके बनाये…See More
yesterday
atul kushwah posted a blog post

मेरे किरदार को ऐसी कहानी कौन देता है...

जो पहले मौत दे, फिर जिंदगानी कौन देता है मेरे किरदार को ऐसी कहानी कौन देता हैयहां तालाब नदियां जब…See More
yesterday
Sushil Sarna posted a blog post

काँटा

मैं काँटा हूँजाने कितने काँटे चुभा दिये लोगों नेमेरे बदन में अपने शूल शब्दों केजमाने ने देखी तो…See More
yesterday

© 2021   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service